ब्लॉगसेतु

ऋता शेखर 'मधु'
101
 मैं वापस आऊँगा      हवाई जहाज ने टेक ऑफ़ के बाद स्थिर रफ़्तार पकड़ ली थी| जल्द ही श्वेत बादलों को टक्कर देती हुई ऊँची उड़ान भरने लगी|पूरे आठ घंटे का सफर था|      आज घर से निकलने के कुछ देर पहले पिता जी सीढ़ियों से गिर गये थे| कोई...
 पोस्ट लेवल : कहानी
यूसुफ  किरमानी
162
शाहीन बाग में कहानी के किरदारों की तलाशकोई लेखक-लेखिका जब किसी जन आंदोलन में अपनी कहानियों और उपन्यासों के किरदारों को तलाशने पहुंच जाए तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि शाहीन बाग का आंदोलन कहां से कहां तक पहुंच गया है।हिंदी की मशहूर उपन्यासकार औऱ कहानी लेखिका नासिरा श...
रविशंकर श्रीवास्तव
3
..............................
 पोस्ट लेवल : कहानी
रविशंकर श्रीवास्तव
3
..............................
 पोस्ट लेवल : कहानी
रविशंकर श्रीवास्तव
3
..............................
 पोस्ट लेवल : कहानी
रविशंकर श्रीवास्तव
3
..............................
 पोस्ट लेवल : कहानी
usha kiran
527
                            ————   चूँ कि मुझे  हर काम इत्मिनान से करना पसंद है तो हमेशा फ़्लाइट के लिए काफ़ी मार्जिन लेकर ही  घर से निकलता हूँ ।वैसे भी एयर पोर्ट पर ड्यूटी-फ़...
 पोस्ट लेवल : कहानी
Bharat Tiwari
24
अवध नारायण मुद्गल की बेमिसाल कहानी "और कुत्ता मान गया"मैं जब साहब के घर से फाइलें लेकर काफी रात गए अपने घर लौटने लगता हूँ, कुत्ता पंजे उठा-उठाकर हाथ मिलाता है, गुड नाइट कहता है, गले मिलता है। मैं प्रसन्नता से भर उठता हूँ। लगता है, जैसे साहब भी हाथ मिला रहे हों, गले...
kumarendra singh sengar
26
मोबाइल के तेज अलार्म को खामोश करके हम आराम से चादर तानकर लेटे रहे। कुछ देर बाद दरवाजे पर आहट हुई। लगा कि दोस्त घूम-टहल कर वापस आ गया है, सो लेटे-लेटे ही सवाल दागा। उधर से कोई जवाब नहीं मिला मगर पलंग पर किसी के बैठने का एहसास हुआ। चादर के कोने से उस तरफ मुँह घुमाते...
 पोस्ट लेवल : कहानी साहित्य
kumarendra singh sengar
457
मोबाइल के तेज अलार्म को खामोश करके हम आराम से चादर तानकर लेटे रहे। कुछ देर बाद दरवाजे पर आहट हुई। लगा कि दोस्त घूम-टहल कर वापस आ गया है, सो लेटे-लेटे ही सवाल दागा। उधर से कोई जवाब नहीं मिला मगर पलंग पर किसी के बैठने का एहसास हुआ। चादर के कोने से उस तरफ मुँह घुमाते...
 पोस्ट लेवल : कहानी