ब्लॉगसेतु

Brajesh Kumar Pandey
346
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें–3आज यात्रा का तीसरा दिन था। कल शाम के समय जब हम भगवान वेंकटेश के दर्शन कर कमरे लौटे तो एक और घटना हुई। और वो ये कि आगे की ʺयात्राʺ करने वाले ʺयात्रियोंʺ के लिए "ट्रैवलर" गाड़ी की बुकिंग की गयी। तिरूमला के स...
मधुलिका पटेल
547
उसने रोकना नहीं चाहाउसे रुकना नागवार लग रहा थाबहुत दिनों पहले कांच टूट चुका थागाहे बगाहे चुभ जाता गल्‍ती सेपर सोच रही हूंइसे फेंका क्‍यों नहींपर ये किसी कूड़ेदान तकनहीं ले जाया जा सकताक्‍यों ऐसा क्‍या है ?मन के भारीपन सेज्‍यादा भारी तो नहीं होगाये रिश्तों की किरचें...
अजय  कुमार झा
817
कांच के शामियाने किताबें पढना और बात और उन किताबों पर कुछ कहना या लिखना जुदा बात और ज्यादा कठिन इसलिए भी क्योंकि लेखनी से आप पहले से ही परिचित हों तो जी हाँ यह मैं, बात कर रहा हूं रश्मि रविजा के उपन्यास कांच  के शामियाने की। उपन्यास हाथ में आते हुई एक सांस...
विजय राजबली माथुर
97
Virendra Yadavमैसूर के दलित लेखक और पत्रकारिता के प्रोफ़ेसर बी.पी महेश चंद्र्गुरु को धार्मिक भावनाओं केआहत होने का आरोप लगाकर गिरफ्तार कर लिया गया है. इस बीच एक खबर यह भी है कि लखनऊ के केन्द्रीय आंबेडकर विश्वविद्यालय में यह आदेश दिए गए हैं कि विश्वविद्यालय में आयोजि...
Akhilesh Karn
255
गायिका : अनुराधा पौडवाल एवं साथाीछठ व्रत गीतकांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जायबहंगी लचकत जायहोई ना बलम जी कहरिया बहंगी घाटे पहुंचायकांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जायबहंगी लचकत जायबाट जे पूछेला बटोहिया बहंगी केकरा के जायबहंगी केकरा के जायतू तो आन्हर होवे रे...
राजीव कुमार झा
351
क्या प्रेम की पराकाष्ठा मृत्यदंड या मौत है? अतीत से लेकर वर्तमान तक ऐसे ढेरों वृत्तांत  हैं जो यही दर्शाते हैं कि हर बार ऐसा नहीं होता.सुदूर दक्षिण की काशी,कांचीपुरी और 11वीं शताब्दी का एक दिन.महाराज सुंदावा के आदेशानुसार आज एक अपराधी को शूली दंड दिया जाना है....
 पोस्ट लेवल : प्रेम कांची बिल्हण