ब्लॉगसेतु

दिनेशराय द्विवेदी
0
खबर है कि सरकार तीनों कृषि कानूनों के अमल पर डेढ़ साल के लिए रोक लगाने का सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देने को तैयार है। इसके बाद जरूरत पड़ने पर अमल पर रोक आगे भी बढ़ाई जा सकती है। इस बीच सुप्रीम कोर्ट से इतर एक नई कमेटी बनेगी जिसमें किसान संगठनों के प्रतिनिधियों, कृष...
Kajal Kumar
0
 
हर्षवर्धन त्रिपाठी
0
भारतीय संविधान निर्माताओं ने जब संविधान बनाया था तो स्पष्ट तौर पर उसमें यह व्यवस्था स्पष्ट करने की कोशिश की थी कि किसी भी हाल में विधायिका, न्यायापालिका और कार्यपालिका के बीच किसी तरह का टकराव न हो। हालाँकि, इसमें लोकतंत्र की मूल भावना का ख्याल रखते हुए विधायिका और...
हर्षवर्धन त्रिपाठी
0
 पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह लगातार 10 वर्षों तक देश के प्रधानमंत्री रहे, लेकिन आज भी जब डॉ मनमोहन सिंह की बात होती है तो पहली&nb...
0
--नभ में सूरज गुम हुआ,  हाड़ कँपाता शीत।दाँतों से बजने लगा, किट-किट का संगीत।।--दिवस हुए छोटे बहुत, लम्बी हैं अब रात।खाने में अब बढ़ गया, भोजन का अनुपात।।--कोयल और कबूतरी, सेंक रहे हैं धूप।बिना नहाये लग रहा, मैला उनका रूप।।--अच्छा लगता है बहुत, शीतकाल में...
 पोस्ट लेवल : खेती का कानून दोहे
Kajal Kumar
0
 
Kajal Kumar
0
 
Kajal Kumar
0
 
Kajal Kumar
0
 
Kajal Kumar
0