ब्लॉगसेतु

Roshan Jaswal
173
इस शहर में घर ढूंढता है कोई,क्या यहां अपना रहता है कोई।उफ ये दौड़ , ये भागमभाग,चुपचाप सा बहता है कोई।बदहवास ज़िंदगी का सबब है क्या,अपना ही पता यहां पूछता है कोई। जारी.... 
 पोस्ट लेवल : काव्य
sanjiv verma salil
7
संस्कृत - चमत्कारी भाषा*एकाक्षरी श्लोकमहाकवि माघ ने अपने महाकाव्य 'शिशुपाल वध' में एकाक्षरी श्लोक दिया है -दाददो दुद्ददुद्दादी दाददो दूददीददोः ।दुद्दादं दददे दुद्दे दादाददददोऽददः ॥ १४४अर्थ - वरदाता, दुष्टनाशक, शुद्धक, आततायियों के अंतक क्षेत्रों पर पीड़क शर का संधान...
sanjiv verma salil
7
काव्य कानन अनुक्रम १. दोहा - सोरठा गीत     पानी की प्राचीर २. सोरठा - दोहा गीत    संबंधों की नाव।                                   &nb...
 पोस्ट लेवल : काव्य कानन kavya kanan
sanjiv verma salil
7
दुर्गा सप्तशती प्राधानिकं रहस्यंसृष्टि उत्पत्ति और सरस्वती जी*ॐ अस्य श्री सप्तशतीरहस्यत्रयस्य नारायणऋषिरनुष्टुप छंद:, महाकाली-महालक्ष्मी-महासरस्वती देवता यथोक्त फला वाप्यर्थं जपे विनियोग:।ॐ सतशती के रहस्य त्रय, ऋषिवर श्री नारायण हैं।देव महा काली-रमा-शारद, छंद अनुष्...
Manoj Kumar
51
आओ हिंदी दिवस मनाऍं- करण समस्तीपुरीस्वाभिमान की भाषा हिंदी। जन मन की अभिलाषा हिंदी। सुंदर इसकी है अभिव्यक्ति। इसमें है सम्मोहन शक्ति। भारत के माथे की बिंदी। पुरस्कार देती है हिंदी। चलो कहीं भाषण कर आएँ। कविता दोहा गीत सुनाएं।&nbsp...
sanjiv verma salil
7
                                                                  ॐ       ...
 पोस्ट लेवल : भाषा छंद काव्य लेख
रवीन्द्र  सिंह  यादव
174
समाचार आया है -'राहुल बोस ने दो केले की क़ीमत चुकायी  442.50 रुपये।' अभिनेता ठहरा था चंडीगढ़ के स्टार होटल में, बाहर आया महँगाई का जिन्न बंद था जो भद्रलोक की बॉटल में। मात्र 375 रुपये दो केले की एमआरपी, जोड़ा गया इसमें...
sanjiv verma salil
7
विमर्श हिंदी वांग्मय में महाकाव्य विधा आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' *संस्कृत वांग्मय में काव्य का वर्गीकरण दृश्य काव्य (नाटक, रूपक, प्रहसन, एकांकी आदि) तथा श्रव्य काव्य (महाकाव्य, खंड काव्य आदि) में किया गया है। आचार्य विश्वनाथ के अनुसार...
 पोस्ट लेवल : mahakavya महाकाव्य
Yashoda Agrawal
3
गर चंद तवारीखी तहरीर बदल दोगे क्या इनसे किसी कौम की तक़दीर बदल दोगे जायस से वो हिन्दी की दरिया जो बह के आई मोड़ोगे उसकी धारा या नीर बदल दोगे जो अक्स उभरता है रसख़ान की नज्मों में क्या कृष्ण की वो मोहक तस्वीर बदल दोगे तारीख़ बताती है तु...
sanjiv verma salil
7
अंग्रेजी-हिंदी सेतुइंगलिश की यादगार कविताओं का हिन्दी में अनुवादकी श्रंखला में पहला अुनुवादकाव्यानुवाद बीनू भटनागर A Dream Within A Dreamby Edgar Allan PoeTake this kiss upon the brow!And, in parting from you now,Thus much let me avow--You are not wrong,...