ब्लॉगसेतु

अनंत विजय
0
गीतकार मजरुह सुल्तानपुरी को उनकी एक कविता के लिए जेल भेज दिया गया था। तब देश में कांग्रेस का शासन था और नेहरू जी प्रधानमंत्री थे। संविधान और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौर...
Yashoda Agrawal
0
सूखे पत्ते,टूट रहे हों जैसे,हम भी तो हो रहे हैं दूरअपनी मिट्टी सेअपने जड़ों सेएक अनजानीकभी पूरी न होने वालीइच्छाओं के पीछेबिना यह सोचेकि हमारा भविष्य क्या होगाहमारा अस्तित्व क्या होगाचले जा रहें हैं बसबिन मंज़िल का मुसाफ़िर बनएक ऐसे रास्ते परजो कहीं खत्म नहीं होताकभी...
Sujit Shah
0
अयोध्या सँ एलै बरातीनिक-निक पेहान यौ !राजा जनकजी के आगाठाढ़ छै श्री राम यौ !!राजा जनकजी के आगाठाढ़ छै श्री राम यौ !!राम, लक्षमण, भरत, सत्रूधनसबके सब महान यौराम, लक्षमण, भरत, सत्रूधनसबके सब महान यौ !हाथ मे माला ध्यनेमारै मुस्कान यौराजा जनकजी के आगाठाढ़ छै श्री राम यौ !...
Yashoda Agrawal
0
अब नहीं देखता ख़्वाब मैं रातों को,रातों में पलकें झपकाना भी भूल गया।दिये हैं जालिम तुमने ज़ख़्म इतने कि,ज़ख़्मों पर अब मरहम लगाना भूल गया।वक़्तो गुज़र जाता है तन्हां इस कदर कि,बीते वक़्तत का हिसाब लगाना भूल गया।तेरी बेवफ़ाई के सहारे ज़िन्दा हूँ या नहीं,ज़िन्दगी के अंतिम साँसे...
Sujit Shah
0
जाईत जाईत मे कनिक तका गेल,हुनकर मुँह कनिक देखा गेल !साइकिल हमर गिर गेल ,ठेहुना मे चोट सेहो लागि' गेल !! [ १ ]बड़का-बड़का आँखि' छल ,जाहिमे एहन काजल छल !काजल एहन देखिक,मन हमर डोलि' गेल !! [ २ ]केस हुनकर एहन छल,ओहिमे लागल गजरा छ...
Mohinder Kumar
0
..............................
शिवम् मिश्रा
0
सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।किशोर कुमार का जन्म 4 अगस्त, 1929 ई. को खंडवा, मध्य प्रदेश में एक बंगाली परिवार में हुआ था। किशोर कुमार एक विलक्षण शख़्सियत रहे। हिन्दी सिनेमा की ओर उनका बहुत बड़ा योगदान है। किशोर कुमार के पिता कुंजीलाल खंडवा शहर के जाने मान...
Mohinder Kumar
0
..............................
Mohinder Kumar
0
..............................
Mohinder Kumar
0
..............................