कुमाऊनी लोकगीत में छंद : एक विमर्शडाॅ0 वसुंधरा उपाध्यायसहा. प्राध्यापक हिंदी विभाग  एल.एस.एम.रा.स्ना.महा. पिथौरागढ़ भारत के अन्य भागों के इतरह कुमाऊँ में लोक साहित्य की परंपरा उतनी ही पुरानी है जितनी पुरानी मानव जाति है। लोकगीत, लोक कथा, लोकोक्ति...