ब्लॉगसेतु

विजय राजबली माथुर
170
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
 पोस्ट लेवल : गठिया हड्डियाँ कान
विजय राजबली माथुर
170
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
विजय राजबली माथुर
170
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
Satyan Srivastava
44
कई लोगों को आजकल कमर दर्द(Waist Pain)पीठ दर्द-सायटिका व घुटनो के दर्द की शिकायत हो रही है तो मै आज आपके लिए एक अभ्यंगम दर्द निवारक तैल का प्रयोग बता रही हूँ ये एक अक्सीर चिकित्सा प्रयोग है जिसके प्रयोग से तुरंत ही लाभ होता है-इस प्रयोग में(अभ्यंगम)दर्द निवारक...
 पोस्ट लेवल : जोड़ों का दर्द-गठिया
विजय राजबली माथुर
170
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं➡ लौंग (Clove) : सिर्फ 1 लौंग का सेवन आपके जीवन में कितना महत्त्वपूर्ण हो सकता है जिसकी आपने कभी कल्पना नही की होगी, आज हम आपको Allayurvedi...
Satyan Srivastava
44
यूरिक एसिड(Uric Acid)बढ़ना आजकल लोगों में एक गंभीर समस्या बन गई है प्रारंभिक अवस्था में शरीर में जकड़न शुरू होती है और कुछ समय उपरान्त फिर छोटे जोड़ों में दर्द शुरू होता है आपको यूरिक एसिड बनने की समस्या को हल्के में बिलकुल भी नहीं लेना चाहिए लापरवाही करने पर फिर इल...
 पोस्ट लेवल : यूरिक एसिड-गठिया
Satyan Srivastava
44
यूरिक ऐसिड(Uric Acid)बढ़ जाता है तो वह बहुत नन्हें-नन्हे क्रिस्टलों के रूप में जमा हो जाता है ये हड्डियों मे ख़ासतौर से जोड़ों(Joint)के आस पास जमा होता है ये क्रिस्टल(Crystals)बहुत ही धारदार होते हैं जो की जोड़ों की चिकनी झिल्ली में चुभते हैं तथा चुभन और भयंकर दर्द...
 पोस्ट लेवल : यूरिक एसिड-गठिया
Satyan Srivastava
44
भोजन के रूप मे लिए जाने वाले प्रोटीन प्युरीन(Purine protein)और साथ मे उच्च मात्रा मे शर्करा(Glucose)का लिया जाना रक्त मे यूरिक एसिड(Uric Acid)की मात्रा को बढाता है तथा कई लोगों मे वंशानुगत कारणों को भी यूरिक एसिड के ऊँचे स्तर के लिए जिम्मेदार माना गया है गुर्दे द्व...
 पोस्ट लेवल : यूरिक एसिड-गठिया
विजय राजबली माथुर
170
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैंघुटनों का दर्द बहुत ही पीड़ादायक होता है और यह आपको चलने-फिरने में भी असमर्थ कर देता है. यदि आपका वजन अधिक हो या आप वृद्धावस्था में हों तो घुटनों का दर्द औ...
विजय राजबली माथुर
170
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैंसाभार : http://www.allayurvedic.org/2016/09/18-rogo-ka-kaal-hai-ye-3-aushdhiyon-ka-mishran.html?m=1