ब्लॉगसेतु

Kajal Kumar
15
rishabh shukla
486
गधाकल कुछ गधो की सभा लगी थी,रेकने की होड़ सी लगी,गधो में श्रेष्ठ गजोधर गधा भी,वहाँ मौजूद था|तभी गधो में सबसे बुजूर्ग,मतीमंद राम ने सुझाया,गधो के बुद्धीमान होने पर,काफी चिंता जताई|मतीमंद राम ने,हाल ही का एक वाकया सुनाया,एक गधा जो बुद्धीमान था,बोझ ढोने के बजाय चापलूसी...
Kajal Kumar
15
 पोस्ट लेवल : vaishakhnandan गधा donkey वैशाखनंदन
संतोष त्रिवेदी
106
जीएसटी,जीएसटी का चौतरफ़ा हल्ला मचा हुआ है।बहुत सारे लोग चकरा गए हैं कि यह कौन-सी बला है भला ! पढ़े-लिखों की माने तो पूरे देश में अब एक समान कर व्यवस्था लागू होने जा रही है।सरकार ने अलग-अलग चीज़ों को उनकी उपयोगिता के मुताबिक़ बाँट दिया है ताकि निशानदेही में आसानी हो...
सुनील  सजल
254
लघुव्यंग्य- गधापन चलते-चलते मैं रुक गया | मैंने देखा कि एक गधा सड़क किनारे मरा पड़ा है |उसका एक साथी गधा गर्दन झुकाए उसके शव के पास खड़ा है | पास से गुजरने वाले लोग यह दृश्य देखकर हंसते हुए नहीं रहते | मुझे हँसी नहीं आती |दोपहर को लौटते हुए मैं पुन: वहां से गुजरा तो द...
 पोस्ट लेवल : गधापन लघुव्यंग्य
Kajal Kumar
15
Kajal Kumar
15
Kajal Kumar
15
सुनील  सजल
662
1* मलालचुनाव के दौरान भीख माँगते गवैये को नेता ने रोबदार आवाज में कहा- ‘’ क्यों गधे की तरह रेंक रहा है ,कल पार्टी के दफ्तर में आ ,चमचा बन,और हमारी पार्टी के प्रचार में गीत गा |फिर देख आज भूखे पेट जूठी बीडी पीकर जो दिन गुजार रहा है कल से सिगरेट का धुआं खीचेगा शानदार...
Kajal Kumar
380
बहुत पुरानी बात है. कहीं दूर, गधों का एक देश था. उस देश में बहुत सी कंपनि‍यां थीं. हर कंपनी की एक कस्टमर केयर सेवा थी.  हर कस्टमर केयर सेवा में अंग्रेज़ी बोलने वाले भांति‍-भांति के गधे बैठे होते थे जि‍न्‍हें उनके ऊपर वाले गधों ने कुछ-कुछ गधई नि‍र्देश दि‍ए हुए...