ब्लॉगसेतु

Satyan Srivastava
47
आज ही एक मरीज का फोन आया था और बोल रहे थे कि मैडम जी में एक साल से चूर्ण खा रहा हूँ फिर भी शुगर ज्यो के त्यों ही है मेरे पूछने पर किसी वॉट्सऐप ग्रुप पर बड़े-बड़े दावों के साथ पोस्ट किया हुआ कोई इल्ली-मिल्ली नुस्खा बताया तब मैंने उनसे कहा कि अगर वॉट्सऐप...
Satyan Srivastava
47
आरोग्य के लिए लहसुन(Garlic)अत्यंत गुणकारी है और इसे हमारे प्राचीन वैध्य जनों ने अमृत समान कहा है लहसुन की उत्पत्ति ही अमृत से हुई है ऐसा कहा जाता है कि गरुड़जी जब इंद्र देवता से अमृत हरण करके ले जा रहे थे तभी उसमे से कुछ बूंदे छलक कर पृथ्वी पर आ गिरी और उसमे से लहसु...
Satyan Srivastava
47
आजकल की फास्ट ओर आधुनिक जीवन(Modern life)शैली में जहां हमने जीवन जीने की प्राकृतिक शैली को भुला दिया है और रोगों को हर घर मे महेमान बना लिया है वही एलोपैथी से त्रस्त लोगो का रुझान आयुर्वेद की तरफ बढ़ा है जैसे अपने आप में मस्त रहने वाले लोग दुख मिलते ही ईश्वर को याद...
Satyan Srivastava
47
हरीतकी(Haritaki)उत्तम टॉनिक होने के साथ-साथ रेचक भी है यह आपके पेट के सभी रोगों में रामबाण है ये आपके लिए कब्ज, पेट दर्द, आफरा, गैस, बदहजमी, लिवर की तकलीफे तथा पाइल्स में यह बेहतरीन औषधि साबित होती है आचार्य भावमिश्र जी अपने भावप्रकाश का आरंभ हरीतकी से करते है-आयुर...
Satyan Srivastava
47
हरीतकी(हरड़)सब रोगों का हरण करती है इस कारण ये हरीतकी(Haritaki)कही जाती है यह सभी धातुओं के अनुकूल है तथा पथ्य और कल्याणकारिणी है अतः शिवा भी कहलाती है यह सब रोगों को जीतती है इसलिए विजया कहलाती है इसका सेवन करने वालों को सब प्रकार के रोगों से अभय तथा पूर्ण आयु मिलत...
Satyan Srivastava
47
आयुर्वेद में जब भस्में व अन्य योग प्रचलन में नहीं थे तब सभी उपचार ताज़ी वनस्पतियों को खिलाकर किये जाते थे लेकिन इसमें एक समस्या थी क्योंकि बहुत सी जड़ी बूटियां(Herbs)केवल ऋतु विशेष में ही मिलती हैं इस कारण इनको पूरे वर्ष उपलब्ध करने के लिये औषिधियों को सुखाया जाने लग...
Satyan Srivastava
47
समय के साथ हर चीज बदलती है इसी नियम का प्रत्यक्ष प्रमाण है कि आजकल की आधुनिक जीवन शैली जो आधुनिक कम और नुकसानदेह ज्यादा मालूम पड़ती है आज कल बदलते पर्यावरण और मिलावटी खानपान से जहाँ शरीर के पोषण मिलने में बाधा रूप बन रहा है वही जीवन की मूलभूत जीवन शैली में आए इस फेर...
Satyan Srivastava
47
एरंडी को अंडी(Castor)के नाम से भी जाना जाता है एरंडी उत्तम वात नाशक है उसका तेल बेहद चिकनाई युक्त होता है इसीलिए इससे केस्ट्रोल नामक इंजिन लुब्रिकेंट भी बनता है ये वातनाशक, जकड़न दूर करने वाला और शरीर को गतिशील बनाने वाला होने के कारण इसे संस्कृत में गन्धर्व भी कहा...
Satyan Srivastava
47
हमारी भारतीय संस्कृति में पीपल(Ficus Religiosa)के वृक्ष को अहम और पूज्यनीय माना गया है इसलिए सिर्फ भारतीय संस्कृति में पीपल के पेड़ की पूजा भी होती है और कहा जाता है जिस तरह से हमारे देवताओं में अनेकों गुण होते हैं ठीक उसी तरह से पीपल के पेड़ में भी कई स्वास्थ्यवर्...
Satyan Srivastava
47
हैपेटाईटिसबी(Hepatitis B)लीवर के संक्रमण से पैदा हुई एक बीमारी है जिसे आप पीलिया कहते है ये अलग प्रकार के वाइरस से पैदा होने वाली बीमारी है अलग-अलग डॉक्टरों ने अलग-अलग प्रकार के वाइरस की पहचान करके इसके अलग-अलग नाम देने का काम बखूबी किया है आप अच्छी तरह जान ले पीलि...
 पोस्ट लेवल : घरेलू-उपचार-प्रयोग