ब्लॉगसेतु

ANITA LAGURI (ANU)
53
नंदू नंदू दरवाजे की ओट से,निस्तब्ध मां को देख &#2...
S.M. MAsoom
34
जैसे जैसे जौनपुर के स्वर्णिम इतिहास पे नज़र डालते हैं वैसे वैसे नए नए रहस्यों से पर्दा उठता जाता है | शर्क़ी राज्य इब्राहिम शर्क़ी ने जीवन काम में बड़ा पहला फूला लेकिन जब महमूद शर्क़ी का दौर आया तो व्यापार बढ़ा और नए नए नक्काशीदार भवन वजूद में आये |  शायद इसका कारण...
विजय राजबली माथुर
168
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
sanjiv verma salil
7
मुक्तक:फसल हो मोगरा चंपा चमेली जुही केसर की फसल रौंदे न कोई उठी हो तलवार नाहर की अहिंसा-शांति का आशय न कायरता हुआ करता चढ़ा सर शत्रु के कदमों पे भारत माँ की प्रेयर की *फसल हो समझदारी, भाईचारे, स्नेह, साहस की फसल हो गौतमी परित्याग, सुजाता के पायस की फसल हो स्वच्छता,...
sanjiv verma salil
7
नवगीत तुलसी*तुलसी को अपदस्थ कर गयी आकर नागफनी। सहिष्णुता का पौधा सूखा घर-घर तनातनी। *सदा सुहागन मुरझाई है खुशियाँ दूर हुईं।सम्बन्धों की नदियाँ सूखीं या फिर पूर हुईं। आसों-श्वासों में आपस में बातें नहीं बनी। तुलसी को अपदस्थ कर गयी आकर नागफनी।*जुही-चमेली पर चंपा ने...
S.M. MAsoom
34
जौनपुर कभी इत्र ,गुलकंद और चमेली के तेल के लिए बहुत मशहूर रहा है| आज इनका उद्योग ना के बराबर रह गया है जिसका कारण इसे बनाने में लगने वाली कीमत का ना मिल पाना माना जाता है | आज बाज़ार में असली चमेली का तेल या इत्र बहुत कम ही देखने को मिलता है और जो भी बनता है वो ज...
sanjiv verma salil
7
नवगीत:संजीव *बाँस के कल्ले उगे फिर स्वप्न नव पलता गया पवन के सँग खेलता मन-मोगरा खिलता गया*जुही-जुनहाई मिलींझट गलेमहका बाग़ रे!गुँथे चंपा-चमेलीछिप हायदहकी आग रे!कबीरा हँसता ठठामत भागसच से जाग रे!बीन भोगों की बजीमत आजउछले पाग रे!जवाकुसुमी सदाव्रतकर विहँ...
S.M. MAsoom
34
जनाब बनवारी लाल जी जौनपुर के माने  जाने लोगों में गिने जाते  हैं | इनकी पहचान समाज सेवक ओर हिदुस्तान मानवाधिकार के उप सचिव के रूप में कि जाती रही है | श्री बनवारी लाल जी जौनपुर जिले के व्यापार मंडल के कोशाध्य भी हैं | जौनपुर से श्री बनवारी लाला जी के घरान...
अविनाश वाचस्पति
13
मेरी मांग आपको नाजायज लग सकती है लेकिन नाजायज शब्‍द में ही जायज शब्‍द संपृक्‍त है। क्‍या यह भेद भाव नहीं है कि एक पुरुष ने तो कोक शास्‍त्र लिखकर प्रसिद्धि पा ली लेकिन लेकिन किसी महिला को कोयल शास्‍त्री बनने का अवसर क्‍यों नहीं मिला। आप हिंदी चिट्ठाकारी संसार में सब...