ब्लॉगसेतु

Kajal Kumar
7
 पोस्ट लेवल : election डिग्री degree चुनाव
संतोष त्रिवेदी
146
महासमर शुरू हो चुका है।सभी योद्धा हुंकार भर रहे हैं।युद्धभूमि रक्त की नहीं ‘मत’ की प्यासी लग रही है।कुशल सेनापति अग्रिम मोर्चे पर डट चुके हैं।उनके तूणीर नुकीले,नशीले और ज़हरीले तीर   उगल रहे हैं।इरादे बता रहे हैं कि हर तरह के वादे उनके पास जमा हैं।इन्हीं को गो...
शिवम् मिश्रा
436
"राजनीति का सीधा सरल अर्थ था, प्रजा के हित में राज्य को चलाने की वह नीति, जो साम दाम दंड भेद के साथ वह करे, जो राज्य को, देश को सुदृढ बनाये । पर इतिहास हो या वर्तमान राजनीति हो गई मात्र एक कुर्सी, जिस पर बैठकर पंच परमेश्वर जैसी बात को पैरों के नीचे रौंदकर अट्टाहास...
Kajal Kumar
7
 पोस्ट लेवल : election हिजड़ा चुनाव नाच dance
sanjiv verma salil
6
⭐⭐⭐⭐⭐⭐⭐⭐सामयिक दोहे लोकतंत्र की हो गई, आज हार्ट-गति तेज? राजनीति को हार्ट ने,  दिया सँदेसा भेज?वादा कर जुमला बता, करते मन की बातमनमानी को रोक दे, नोटा झटपट तातमत करिए मत-दान पर, करिए जग मतदान राज-नीति जन-हित करे, समय पूर्व अनुमानलोकतंत्र में लोकमत, ठुकराएँ...
 पोस्ट लेवल : दोहा चुनाव
विजय राजबली माथुर
96
   वह वैचारिक प्रचलित आधार पर खुद को 'नास्तिक ' कहते हैं , किन्तु स्वामी विवेकानंद के अनुसार 'नास्तिक ' वह है जिसका खुद अपने ऊपर विश्वास न हो जबकि 'आस्तिक' वह है जिसका अपने ऊपर पूर्ण विश्वास हो ।  जो लोग खुद पर नहीं किसी अदृश्य पर विश्वास करते ह...
Pawan Kumar Sharma
148
पवन कुमार, नई दिल्ली
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : चुनावी संस्मरण
Kajal Kumar
7
 पोस्ट लेवल : lice election vote वोट चुनाव जूं
Kajal Kumar
7
 पोस्ट लेवल : election ticket टि‍कट चुनाव