ब्लॉगसेतु

3
प्राची का है जन्मदिन, छाया है उल्लास।देने शुभ आशीष को, अवसर आया खास।।जिसको करते है सभी, मन से प्यार-दुलार।उस पोती का जन्मदिन, लगता है त्यौहार।।होली की पिचकारियाँ, रंग, अबीर-गुलाल।जन्मदिवस सौगात ये, लाता है हर साल।।ले करके सद-भावना, वन में खिला पलाश।करते मंगल-कामना,...
3
--मना रहे थे लोग जब, होली का त्यौहार।पौत्र रत्न के रूप में, मुझे मिला उपहार।।--जन्मदिवस पर पौत्र को, देता हूँ आशीष।पढ़-लिखकर बन जाइए, वाणी के वागीष।।--कुलदीपक के साथ में, बँधी हुई ये आस।तुमसे ही गुलजार है, मेरा ये आवास।।--सारे जग में देश का, रौशन करना नाम।नयी सोच क...
kumarendra singh sengar
28
समूचे परिवार के लिए वह ख़ुशी का दिन था. परिवार की सबसे बड़ी बेटी के विवाह सम्बन्धी आयोजनों का शुभारम्भ हुआ था. बड़े-छोटे सभी प्रसन्न होने के साथ-साथ अत्यंत ऊर्जावान लग रहे थे. संयुक्त परिवार की यही विशेषता होती है कि आयोजन छोटा हो या बड़ा, सभी उसमें अपने अधिकाधिक अंश क...
3
--जीवन से कम हो गया, एक सुहाना साल।क्या खोया क्या पा लिया, करे कौन पड़ताल।।--मना रहे हैं जन्मदिन, इष्ट मित्र परिवार।अपने-अपने ढंग से, लाये सब उपहार।।--जीवन-साथी चल रहा, थाम हाथ में हाथ।चार दशक से अधिक से, हम दोनों हैं साथ।।--धीरे-धीरे कट गये, ये&nbsp...
3
--आँख जब खोली जगत में, तभी था मधुमास पाया।चेतना मन में जगाने, जन्मदिन फिर आज आया।।--हूँ पुराना दीप, लेकिन जल रहा हूँ,मैं समय के साथ, फिर भी चल रहा हूँ,पर्वतों को काट करके, रास्ता मैंने बनाया।चेतना मन में जगाने, जन्मदिन फिर आज आया।।--था कभी शोला, अभी शबनम हुआ,स...
3
मित्रों! 21 जनवरी मेरे लिए इतिहास से कम नहीं है! क्योंकि आज के ही दिन मैंने ब्लॉगिंग की दुनिया में अपना कदम बढ़ाया था।     आज से ठीक 12 वर्ष पूर्व मैंने उच्चारण नाम से अपना ब्लॉग बनाया था और उस पर अपनी प...
sanjiv verma salil
6
अनुप्रिया के जन्मदिन परगीत*बिंदु-बिंदु सूरज बन चमके *माथे पर हो या कागज़ परबिंदु बिंदु सूरज बन चमकेरेखा-रेखा में जीवन होवर्तुल-वृत्त उमंग भरे होंआकारों में निराकार होसाकारों से रंग झरे होंहर निर्मिति में भाव बिम्ब रसअनायास मोती सम दमके जिया जिया में अनुप्रिया हो अ...
सुमन कपूर
324
मन ! भूल जाना तुम इस एक दिनसुख दुख का हिसाबऔर जी भर जीना सकूनसाल के बाकी दिनों कोमिट्टी में मिला करबीज देना नव वर्ष का अंकुरभ्रम के दरवाजे परलगा कर निश्चय का तालाप्रतिपादित करना नया स्वरूपमाँग लेना दुआ मेंअपने हिस्से की कुछ खुशीत्याग देना निराशा का भाव मन...
 पोस्ट लेवल : जन्मदिन उपहार
जेन्नी  शबनम
98
धरोहर   *******   मेरी धरोहरों में कई ऐसी चीज़ें हैं   जो मुझे बयान करती हैं   मेरी पहचान करती हैं   कुछ पुस्तकें जिनमें लेखकों के हस्ताक्षर   और मेरे लिए कुछ संदेश है   कुछ यादगार कपड़े जिसे मैं...
3
बापू जी का जन्मदिन, देता है सन्देश।रहे नहीं इस देश में, अब दूषित परिवेश।।--साफ-सफाई पर रहे, लोगों का जब ध्यान। तब होगा संसार में, अपना देश महान।।--नहीं पनपना चाहिए, छुआ-छूत का बीज।सभी मनायें प्यार से, ईद-दिवाली तीज।।--हर दफतर में हैं टँगा, गाँधी जी का चित्र।ले...