जब कोई पूछता है कहाँ गए वो.....? (1 के बाद 1 फिर भी मैं 1)राह में पत्थर है मगर मालूम है मेरा बहना उसेमैं नदी की तरह हूँ और मुझे रहना है वैसेहौसलों को जगाकर बड़ी दूर तक चला आयाराह में मिलने वाले रोड़ों को छोड़ आयाथीं मुसीबतें बहुत जब रोकने की वजह बन गए वोलेकिन बढ़ने के...