ब्लॉगसेतु

निरंजन  वेलणकर
251
“मेरे रुह की तस्वीर मेरा कश्मीर. . .”मेरे रुह की तस्वीर मेरा कश्मीर. . . ओ खुदाया लौटा दे कश्मीर दोबारा. . . यह गाना जेहन में बिल्कुल ताज़ा है| १९ अक्तूबर को प्रात: जल्दी आँखें खुली| जितना जल्दी हो सके जम्मू के लिए निकलना है क्यों कि मुघल रोड़ पर भी‌ बाद में ट्रॅफिक...
निरंजन  वेलणकर
251
P { margin-bottom: 0.21cm; direction: ltr; color: rgb(0, 0, 0); widows: 2; orphans: 2; }P.western { font-family: "Times New Roman",serif; font-size: 12pt; }P.cjk { font-family: "SimSun","宋体"; font-size: 12pt; }P.ctl { font-family: "Times New Roman",serif; font-size...
निरंजन  वेलणकर
251
P { margin-bottom: 0.21cm; direction: ltr; color: rgb(0, 0, 0); widows: 2; orphans: 2; }P.western { font-family: "Times New Roman",serif; font-size: 12pt; }P.cjk { font-family: "SimSun","宋体"; font-size: 12pt; }P.ctl { font-family: "Times New Roman",serif; font-size...
निरंजन  वेलणकर
251
आपदा की आपबिती१६ अक्तूबर को प्रात: जल्दी दादाजी और अन्य साथी जम्मू के लिए निकलें| बनिहालवाला रोड़ १८ तारीख तक बन्द किया गया है| इसी लिए उन्हे मुघल रोड़ से ही जाना पड़ा| मुझे भी १९ अक्तूबर की सुबह निकलना है| शायद मुझे भी वहाँ से ही जाना पड़ेगा| एक विचार श्रीनगर से बनिहा...
निरंजन  वेलणकर
251
P { margin-bottom: 0.21cm; direction: ltr; color: rgb(0, 0, 0); widows: 2; orphans: 2; }P.western { font-family: "Times New Roman",serif; font-size: 12pt; }P.cjk { font-family: "SimSun","宋体"; font-size: 12pt; }P.ctl { font-family: "Times New Roman",serif; font-size...
निरंजन  वेलणकर
251
स्वास्थ्य शिविर में सहभाग और अन्य कार्य१४ अक्तूबर की सुबह दादाजी से काफी बातें हुई| कल के अनुभव के बाद काफी प्रश्न मन में हैं; जिनका समाधान अब करना है| पहले दादाजी को गाँव का अनुभव विस्तार से बताया| दादाजी ने शांतिपूर्वक सुना और अपनी बात कही| उन्होने कहा कि सेवा भा...
निरंजन  वेलणकर
251
श्रीनगर और गंगीपोरा में स्वास्थ्य शिविर१३ अक्तूबर की सुबह| आज डॉ. प्रज्ञा दिदी और डॉ. अर्पितजी वापस जाएँगे| उनके स्थान पर कल गोवा से डॉ. देसाई जी आए हैं| कल डॉ. प्रज्ञा दिदी और अर्पितजी ने मेडिसिन्स के कई सेट बनाए हैं| कल रात उन्होने वह काम किया| आज सुबह वे शंकराचा...
निरंजन  वेलणकर
251
P { margin-bottom: 0.21cm; direction: ltr; color: rgb(0, 0, 0); widows: 2; orphans: 2; }P.western { font-family: "Times New Roman",serif; font-size: 12pt; }P.cjk { font-family: "SimSun","宋体"; font-size: 12pt; }P.ctl { font-family: "Times New Roman",serif; font-size...
निरंजन  वेलणकर
251
राहत कार्य के धुरन्धर १० अक्तूबर की सुबह| आज पाम्पलेट और रिपोर्ट का काम पूरा होगा| अब पेज का डिजाईन करनेवाले व्यक्ति को वह सौंप दिया जाएगा| इच्छा हो रही है कि फिल्ड का कुछ काम किया जाए| बस आज की बात है| कल श्रीनगर जाना है|‌ सुबह विदुषी दिदी को छोडने के दादाजी और अन...
निरंजन  वेलणकर
251
आपदा के विभिन्न पहलू९ अक्तूबर का दिन| कल रात हुई बातचीत अब भी ताजा है| दादाजी ने कल की मीटिंग में यह भी कहा था कि आज सुबह एक जगह जाना है| जम्मू से  दस किलोमीटर दूर एक कोलोनी है| वहाँ संस्था के बीस स्वयं सहायता समूह कार्यरत हैं| सुबह पहला काम वहाँ जा कर वहाँ का...