ब्लॉगसेतु

Sanjay  Grover
310
ग़ज़लजब खुल गई पहेली, तो है समझना आसांसच बोलना है मुश्क़िल, लेकिन है गाना आसां पहले तो झूठ बोलो, ख़ुद रास्ता बनाओफिर दूसरों को सच का रस्ता बताना आसांवैसे तो बेईमानी .. में हम हैं पूरे डूबेमाइक हो गर मुख़ातिब, बातें बनाना आसांजो तुम तलक है पहुंचा, उन तक भी पहुंच...
सुशील बाकलीवाल
426
          लूट मचाने के लिए दवा कंपनियाँ किस हद तक गिर सकती है हम-आप इसका अनुमान भी नहीं लगा सकते ।           अभी कुछ समय पूर्व स्पेन मे शुगर की दवा बेचने वाली बड़ी-बड़ी कंपनियो...
सुशील बाकलीवाल
325
          एक नारी को तब क्या करना चाहिये जब वह देर रात में किसी उँची इमारत की लिफ़्ट में किसी अजनबी के साथ स्वयं को अकेला पाये ?           विशेषज्ञ का कहना है: जब आप लिफ़्ट मे...
S.M. MAsoom
89
ईदे ज़हरा क्या है ?  ‌‌‌लेखक: पैग़म्बर नौगांवी हमारे समाज में बहुत सी ईदें आती हैं जैसे ईद उल फि़त्र, ईदे क़ुरबान, ईदे मुबाहिला और ईदे ज़हरा वग़ैरह, यह सारी ईदें किसी वाक़ए की तरफ़ इशारा करती हैं। ईद उल फि़त्रः पहली शव्वाल को एक महीने के रोज़े पूरे करने क...
S.M. MAsoom
40
जहरखुरानी  कि घटनाएँ आज कल आम होती जा रही हैं विशेषकर लंबी दूरी की ट्रेनों जम्बूतवी, गोल्डन टेम्पल, अवध एक्सप्रेस, साबरमति आदि ट्रेनों में जहरखुरानी की वारदातें ज्यादा होती हैं. बदमाश यात्रियों से अखबार, माचिस जैसी चीजें मांगकर बातचीत की शुरुआत करते हैं। जब...
 पोस्ट लेवल : जागरुकता खबरें
S.M. MAsoom
40
आज इस ऑनलाइन के युग मैं फेस बुक ,टिविटर जैसी सोशल वेबसाइट पुराने दोस्तों से जुड़ने और नए दोस्त बनाने का बेहतरीन जरिया मानी  जा रही है | नौजवान लड़के लड़कियों मैं तो यही होड़ लगी रहती है कि कौन कितना खूबसूरत लग रहा है? और सुंदर लगने के लिए तो फिर वैसे भी कम या...
S.M. MAsoom
40
कास्टेबल ओमप्रकाश जायसवाल ने सर्च किया इस गिरोह का कारनामा :एसपी बबलू कुमार  जौनपुर। साईबर क्राईम टीम ने एटीएम कार्ड का पिन नम्बर चुराकर आन लाईन खरीददारी करने वाले एक गिरोह का पर्दाफास करते हुए सरगना सहित  चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस न...
 पोस्ट लेवल : जागरुकता news ख़बरें
S.M. MAsoom
89
इस्लाम में नशा कोई भी हो हराम है या कह दें मना है | अक्सर लोग पूछते हैं क्या सिगरेट भी मना है क्या तम्बाकू और गुटका भी मना है ? भाई जिस चीज़ से नशा हो या  इंसान के शरीर के लिए जान के लिए घातक हो  वो सब हराम है या  मना है | अल्लाह ने हमें बनाया...
ललित शर्मा
64
..............................