ब्लॉगसेतु

सुशील बाकलीवाल
328
      पिछले दिनों बहुचर्चित निर्भया केस में कोर्ट रुम के एक विशेष दृश्य के बारे में समाचारपत्रों में पढा कि मुजरिम को फांसी दी जाए या मुजरिम की फांसी को टाल दिया जाए इस विषय पर दो माताएं न्यायाधीश महोदय के समक्ष अपनी-अपनी भरी आँखों से समुचित न्याय की...
सुशील बाकलीवाल
328
      कुछ दिनों पूर्व हमारे शहर में 5/- रु. के अच्छे-भले नोट लोगों ने लेना बंद कर दिया । कारण क्या हुआ ?  जवाब किसी के पास भी नहीं, बस हम नहीं लेंगे । अब आप बैठे रहो अपने उन पांच रुपये के करंसी नोटों को लेकर, नहीं चलेंगे याने नहीं चलेंगे । पहले...
अनीता सैनी
100
लड़खड़ाते हौसलों में हिम्मत, दूब-सा दक्ष धैर्य धरा पर है अभी भी, कोहरे में डूबी दिशाएँ दरकती,  नयनों में उजले स्वप्न सजोते हैं अभी भी, रक्त सने बोल बिखेरते हृदय पर, जीने की ललक तिलमिलाती है अभी भी । कश्मकश की कश्ती में सवार,&nb...
YASHVARDHAN SRIVASTAV
684
जीवन कि लड़ाइयों से,लड़ रहा हूं मैंचाहे कुछ भी हो लेकिन,आगे बढ़ रहा हूं मैंकुछ इस कदरनदी के रूप सा, ढल रहा हूं मैंतपती धूप में भीचल रहा हूं मैं।।
अनीता सैनी
100
अविज्ञात मलिन आशाओं को समेटकर, अनर्गल प्रलापों से परे,  विसंगतियों के चक्रव्यूह तोड़कर, जिजीविषा की नूतन इबारत, मूल्यों को संचित कर वह लिखना चाहती है |भोर में तन्मयत्ता से बिखेरती पराग, विभास से उदास अधूरी कल्पना छिपाती, सुने-अनसुन...
सुशील बाकलीवाल
328
        वर्तमान समय के प्रतिस्पर्धी माहौल में हर माता-पिता अपने बच्चे को जीवन की दौड में आगे बढाने के लिये प्राण-प्रण से लगे दिखाई देते हैं इसके लिये आवश्यक खर्च की पूर्ति करने के लिये वे घर व बाहर के मोर्चे पर लगातार अपनी सामर्थ्य से अधिक मेहनत...
उन्मुक्त हिन्दी
103
यह चिट्ठी, आंद्रे वेल, उनके द्वारा बनाये बोरबाकी ग्रुप, इसके बारे में अमीर डी इक्जेल की लिखी पुस्तक 'द आर्टिस्ट एंड द मैथमेटिशियन: द स्टोरी ऑफ निकोला बोरबाकी, जीनियस मैथमेटिशियन हू नेवर एक्जिस्टेड' और इलाहाबाद के जाने माने गणित के प्रोफेसर बनवारी लाल शर्मा के बारे...
 पोस्ट लेवल : जीवनी गणित
सुशील बाकलीवाल
423
      एक अनुभवी चित्रकार ने अपनी समझ के अनुसार प्रकृति का एक अत्यंत खूबसूरत चित्र बनाया फिर यह सोचकर कि लोगों को इसमें क्या कमी दिख सकती है उस चित्र को एक तूलिका और रंगों की प्लेट के साथ यह नोट लगाकर रख दिया कि यदि आपको इसमें कोई कमी दिखे तो कृपया उस...
सुशील बाकलीवाल
423
        शादी में दो दोस्त बहुत समय के बाद मिले,  संयोग से एक की शादी थी और दुसरा बाराती ।         दुल्हा बोला- "यार ऐसा कोई ज्ञान दे जो जिंदगी में काम आए"        बाराती दोस्त - "तुम पहले तो नहीं पीते...
उन्मुक्त हिन्दी
103
यह चिट्ठी, रॉबर्ट ओपेनहाइमर, उनके बारे में एक दिलचस्प लेख, उनका गीता प्रेम  और रॉबर्ट जुंगक की लिखी पुस्तक 'Brighter than Thousand Suns' के बारे में है।आइंस्टाइन और रॉबर्ट ओपेनहाइमर रॉबर्ट ओपेनहाइमर को परमाणु बम के पिता के रूप में जाना जाता है। यहां पर, उन पर,...