ब्लॉगसेतु

दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी लेख
अजय  कुमार झा
275
पहला दिन : बंदी से पहले और बंदी वाले पहले दिन लोगों ने दुकानों पर                         मेला लगायादूसरा दिन : दूसरा दिन ,पुलिस ने उठक बैठक करवाते मुर्गा बनाते ,लाठी         ...
अजय  कुमार झा
97
पिछले एक सप्ताह के एकांतवास में ,छत पर अपनी बगिया में सत्तर अस्सी पौधे लगा चुका हूँ | फूल पत्तों के अलावा फिलहाल तोरी ,भिंडी ,घीया ,पालक ,धनिया ,नीम्बू मिर्च सब उगाई लगाई जा रही है | दिन का  अधिक समय छत पर बनी इस बगिया नुमा आँगन में ही बीत रहा है | सुबह शाम झा...
अजय  कुमार झा
170
मैं शुरू से ही ये मान रहा था और जहां भी मुझे लगा यही कह रहा था की नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों के सामने हर हाल में सिर्फ और सिर्फ वर्दी वाले ही होने चाहिए ,सत्ता और प्रशासन ही रहने चाहिए | चाहे कुछ  भी हो ,इस कानून का और सरकार के इस रुख का सम...
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
शिवम् मिश्रा
19
सरकार ने आखिरकार आरक्षण के भूत की एक बार फिर से चुटिया पकड़ ली है | हालांकि मेरे जैसे एक साधारण व्यक्ति जो सिर्फ अपने श्रम और संघर्ष पर अपना मुकाम हासिल कर पाया के लिए किसी भी तरह का आरक्षण , ठीक उस बैसाखी की तरह है जो दो पाँव से चलने दौड़ने वाले तक को जबरन थमाया जा...
YASHVARDHAN SRIVASTAV
525
हिंदी भारत की अमर वाणी है। हम भारतीयों को इस पर गर्व होना चाहिए। महात्मा गांधी ने भी कहा था कि राष्ट्रभाषा की जगह सिर्फ हिंदी ले सकती है, कोई दूसरी भाषा नहीं। यदि हिन्दुस्तान को सचमुच में एक करना है, तो कोई माने या न माने, राष्ट्रभाषा का दर्जा तो सिर्फ हिंदी ही ले...