ब्लॉगसेतु

दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
Shreesh Pathak
443
माना, बचपन इतना भी बेख़ौफ़ ना होता हो सबका, पर जैसी भी जिन्दगी है किसी की, बचपन का अल्हड़पन याद जरुर आता होगा. तेरा-मेरा था, तरोड़-मरोड़ ना था, नीच-ऊंच था भी तो उसका महत्त्व कुछ ना था. जानते कुछ ना थे, जानना सब चाहते थे. प्यार जितना भी नसीब था, हिसाब नहीं था. खेल खेल मे...
दयानन्द पाण्डेय
109
 कुछ  फेसबुकिया नोट्स  अरविंद केजरीवाल किरन बेदी को तो पानी पिला देंगे पर नरेंद्र मोदी का तो वह नाखून भी नहीं छू पा रहे। न राजनीतिक पैतरेबाज़ी में , न विजन में , न नौटंकी में , न वादे और इरादे में, न प्रहार और प्लैनिंग में । अरविंद केजरीवाल को...
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
अजय  कुमार झा
97
समय घूम फ़िर कर वहीं आ खडा होता है और ऐसे समय में तो मुझे लगता है मानो हम सब किसी पार्क में एक दूसरे के पीछे भाग भाग कर गोल गोल घूम घूम कर रेलगाडी छुक छुक छुक छुक खेलने में लगे हैं  । दिल्ली विधानसभा चुनाव एक बार फ़िर से लडे जाने वाले हैं , अपने यहां इस देश में...
दयानन्द पाण्डेय
109
 कुछ और फ़ेसबुकिया नोट्स  एक समय दिग्विजय सिंह और कपिल सिब्बल जैसे कांग्रेसी अहंकारियों ने अन्ना के नेतृत्व में चल रहे इंडिया अगेंस्ट करप्शन के लोगों को ललकारा कि ऐसे ही देश बदलना है तो राजनीति में आ कर देखें। आटे-दाल का भाव मालूम हो जाएगा। अन्ना हज...
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
109
कुछ फेसबुकिया नोट्स  नीतीश कुमार तो अब लद गए । पहले नरेंद्र मोदी से मोर्चा खोल कर मुंह की खाए ही थे , अब उन के खड़ाऊं राज के प्रतीक जीतन राम मांझी ने भी उन्हें जोर का झटका धीरे से दे दिया है। नीतीश नाम की माला फेर-फेर कर ही उन को बड़ा सा दर्पण दिखा दि...
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी
दयानन्द पाण्डेय
69
..............................
 पोस्ट लेवल : टिप्पणी