ब्लॉगसेतु

4
मुखपृष्ठसाहित्यकारों की वेबपत्रिकावर्ष: 4, अंक 81, मार्च(द्वितीय), 2020देख तमाशा होली काडॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"मस्त फुहारें लेकर आया,मौसम हँसी-ठिठोली का।देख तमाशा होली का।।उड़ रहे पीले-हरे गुलाल,हुआ है धरती-अम्बर लाल,भरे गुझिया-मठरी के थाल,चमकते रंग-बिरंगे गाल...
विजय राजबली माथुर
97
Hemant Kumar Jha24-09-2019 डोनाल्ड ट्रम्प की सरकार को नाओम चोम्स्की ने "अमेरिका के लोकतांत्रिक इतिहास की सर्वाधिक मानव द्रोही सरकार" की संज्ञा दी है। जीवित किंवदन्ती बन चुके, अमेरिका में रह रहे वयोवृद्ध विचारक चोम्स्की जब कुछ बोलते हैं तो दुनिया गम्भीरता से उन...
Sanjay  Grover
416
लोग ग़ौर से देख रहे थे।कौन किसका पंजा झुकाता है ? कौतुहल.....उत्तेजना......सनसनी....जोश.....उत्सुकता......संघर्ष....प्रतिस्पर्धा.....प्रतियोगिता.....ईर्ष्या......नफ़रत......जलन.....धुंधला ही सही, लोगों को कुछ-कुछ नज़र आ हा था क्यों कि हाथों में अलग-अलग रंगों के द...
Sanjay  Grover
310
गज़ल                                                                          &nb...
सुशील बाकलीवाल
407
             एक गांव में आग लगी । सभी लोग उसको बुझाने में लगे हुए थे । वहीं एक चिड़िया अपनी चोंच में पानी भरती और आग में डालती, फिर भरती और फिर आग में डालती । एक कौवा डाल पर बैठा उस चिड़िया को देख रहा था । क...
prabhat ranjan
34
ज्योति नंदा ने पिछले साल के आखिर में आई दो फिल्मों पर एक पठनीय लेख लिखा है- मॉडरेटर =============================================================="बाजीराव मस्तानी" दर्शन से पहले "तमाशा" देखी थी। "तमाशा" देखने के बाद इतना कुछ कहने को मन हुआ कि शब्दों...
Sanjay  Grover
703
पुरस्कार लेनेवाले की कोई राय हो सकती है, देनेवाले की हो सकती है, लेन-देन और तमाशा देखनेवालों की राय हो सकती है, मगर पुरस्कार ! उससे कौन पूछता है तुम किसके पास जाना चाहते हो और किसके पास नहीं ? पुरस्कार की हालत कुछ-कुछ वैसी ही होती है जैसी तथाकथित भावुक समाजों में क...
praveen blogger
231
...देखदेखदेखदेख भाई देख तमाशा देखउनको दुनिया संत बोलतीसोतों को जगाते हैं जोदिनदहाड़े उनका सोना देखसोने में सोने का स्वप्न देख सोना सोना की रट कर केजागतों को भी सुलाना देखदेखदेखदेखदेख भाई देख तमाशा देखपुरानी पोथा पत्री  बाँचतेग्रहचालों की रफ्तार नापतेरत्न-जत्न...
अविनाश वाचस्पति
16
झांसा राम आया रेझांसा राम आयाझांसा राम को करो सलामखूब नाम कमाया रेझांसा राम आया रेझांसा राम आया जय हो झांसा राम कीखूब नाम कमाया रेन जाने चौहत्‍तर तककिस किस को फांसाजिस जिसने आंका उसने बनाया तमाशा रेझांसा राम आया रे झांसा राम आया जय हो झांसा राम...
praveen blogger
231
...कल स्टार न्यूज का 'एक्सक्लूसिव' देख रहा था... किसी बड़ी गाड़ी में अन्ना हजारे ड्राइवर के साथ वाली सीट पर बैठे हुऐ थे व पीछे की सीट पर रिपोर्टर व उसके बगल में कैमरामैन... साक्षात्कार लोकपाल के मुद्दे पर चल रहे उनके आंदोलन को लेकर हो रहा था... पर एक बात जो खली वह...