ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
0
एक गीत *पूछ रही पीपल से तुलसी बोलो ऊँचा कौन?जब भी मैंने प्रश्न किया तब उत्तर पाया मौन *मीठा कोई कितना खाये तृप्तिं न होती मिले अलोना तो जिव्हा चखने में रोती अदा करो या नहीं किन्तु क्या नहीं जरूरी नौन? जब भी मैंने प्रश्न किया है तब उत्तर पाया मौन *भुला स्वदेशी खुद क...
 पोस्ट लेवल : गीत तुलसी पीपल
ज्योति  देहलीवाल
0
तुलसी का पौधा लगभग हर घर में होता है। लेकिन अक्सर कई लोगों को समस्या आती है कि उनके घर के तुलसी के पौधे पर कीड़ा लग जाता है या वो बराबर बढ़ता नहीं है या वो सूखने लगा है। यदि आपको भी ये परेशानियां आ रही है, तो ये टिप्स आपके लिए बहुत कारगर साबित होंगे।  दोस्तो, पौ...
sanjiv verma salil
0
दोहा सलिला:*गुरु न किसी को मानिये, अगर नहीं स्वीकारआधे मन से गुरु बना, पछताएँ मत यार*गुरु पर श्रद्धा-भक्ति बिन, नहीं मिलेगा ज्ञाननिष्ठा रखे अखंड जो, वही शिष्य मतिमान*गुरु अभिभावक, प्रिय सखा, गुरु माता-संतानगुरु शिष्यों का गर्व हर, रखे आत्म-सम्मान*गुरु में उसको देख...
 पोस्ट लेवल : दोहा सलिला तुलसी गुरु
sanjiv verma salil
0
शिव वन्दना:गोस्वामी तुलसीदास*नमामी शमीशान निर्वाण रूपमम् ।विभुम् व्यापकम् ब्रह्म वेदस्सवरूपम् ।।निजम् निर्गुणम् निर्विकल्पम् निरीहम् ।चिदाकाशमाकाश वासं भजेहम् ।। १ ।।निराकार ऊँकार मूलम् तुरीयम् ।गिराग्यान गोतीश मीशम् गिरीशम् ।।करालं महाकाल कालम् कृपालम् ।गुणगार संस...
sanjiv verma salil
0
आयुर्वेद : तुलसीतुलसी में गजब की रोगनाशक शक्ति है। विशेषकर सर्दी, खांसी व बुखार में यह अचूक दवा का काम करती है। इसीलिए भारतीय आयुर्वेद के सबसे प्रमुख ग्रंथ चरक संहिता में कहा गया है।- तुलसी हिचकी, खांसी,जहर का प्रभाव व पसली का दर्द मिटाने वाली है। इससे पित्त की वृद...
 पोस्ट लेवल : आयुर्वेद तुलसी
sanjiv verma salil
0
मीरां - तुलसी संवादकृष्ण-भक्त मीरां बाई और राम-भक्त तुलसीदास के मध्य हुआ निम्न पत्राचार शंका-समाधान के साथ पारस्परिक विश्वास और औदार्य का भी परिचायक है। इष्ट अलग-अलग होने और पूर्व परिचय न होने पर भी दोनों में एक दूसरे के प्रति सहज सम्मान का भाव उल्लेखनीय है। काश. ह...
 पोस्ट लेवल : मीरां - तुलसी संवाद
Bharat Tiwari
0
बुक रिव्यु: मानस का हंस अमृतलाल नागर कृत तुलसीदास के जीवन पर आधारित उपन्यास — विशाख राठीमानस का हंस उपन्यास पाठक को बांधे रखता है, लेकिन जगह-जगह ऐसा आभास भी होता है कि आप 1960 के दशक की बनी किसी बम्बइया फिल्म की पटकथा पढ़ रहे हैं, जिसमें हर तरह का मसा...
सुशील बाकलीवाल
0
        मौसम के बदलाव के चलते आसानी से जो समस्या सामान्य तौर पर हमें सबसे पहले प्रभावित करती है वह यही सर्दी, खांसी और जुकाम होते हैं जो एक ही परिवार के रोग माने जाते हैं और इनकी औषधि भी तकरीबन एक ही होती है । हम यहाँ आपको कुछ ऐसे आसान नुस्खे बत...
अनीता सैनी
0
एक नन्हा-सा पौधा तुलसी का, पनपा मेरे मन के एक कोने में, प्रार्थना-सा प्रति दिन लहराता, सुकोमल साँसों का करता दानसतत प्राणवायु बहाता आँगन में    संताप हरण करता हृदय का,   संतोष का सुखद एहसास सजा,  पीड़ा को पल में...
VMWTeam Bharat
0
जयपुर , गोपालपुरा बाइपास स्थित कृष्ण विहार हनुमान मंदिर में सरयूपारीण ब्राह्मण समाज, राजस्थान के तत्वावधान में गोस्वामी तुलसीदास जयंती कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमे मंदिर परिसर में आम, जामुन, अशोक सहित कई छायादार और फलदार पौधे समाज के अध्यक्ष बलराम मिश्रा के निर्...