ब्लॉगसेतु

आदित्य सिन्हा
730
दर्द का रिश्ता।  ख़ुशी। .... ख़ुशी के लिए, हम क्यों मरते रहते हैं,ख़ुशी के लिए - हम क्यों मरते रहते हैं,दर्द। दर्द जब जरूरी है, उसका ही रिश्ता सच्चा रिश्ता होता है।ख़ुशी के लिए, हम क्यों मरते रहते हैं, माँ। माँ बनना है, एक सुखद अनुभूती है ,गोद...
Roli Dixit
154
मैं वो शहर हूँजिसके किनारे दर्द की झील बहती हैअक़्सर प्रेमी युगलएक-दूसरे को सांत्वना देते दिख जाते हैं.मैं वो पेड़ नहीं बनना चाहताजिनकी शाखों में उनके प्रेम को अमरत्व मिलेइससे बेहतर है, मैं वो कागज़ बनूँजिस पर प्रेम न पा सकने कीवो अपनी रोशनाई उड़ेल दें...अमर होना चाहूँ...
अनंत विजय
54
इस वक्त पूरी दुनिया में एक तिलिस्मी वायरस कोरोना का खौफ जारी है। अपने देश में भी कोरोना की वजह से लॉकडाउन चल रहा है. आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सबकुछ बंद कर दिया गया है। सड़कों पर सन्नाटा का साम्राज्य है लेकिन देश की जनता का मनोबल ऊंचा है। सबके मन में बस एक ही बात चल...
shashi purwar
116
  @page { margin: 2cm } p { margin-bottom: 0.25cm; line-height: 120% } आखिर कब तक दर्द सहेंगी क्यों मरती रहेंगी बेटियाँअपराधों के बढते साएपन्नों सी बिखरती बेटियाँकौन बचाएगा बेटी कोभेड़ियों और खूंखार सेनराधर्म की उग्र क्रूरतादरिंदों और हत्यारों सेभ...
Nitu  Thakur
277
नवगीतबेबसी का दर्दनीतू ठाकुर 'विदुषी'मापनी~ 16/14चिड़िया आग दहकती में क्योंआज स्वयं को झोंक रही।लड़ती रहती छुरियों से जोजब गर्दन पर नोंक रही1देख रहे सब मौन तमाशा,ध्यान किसे है गैरों का।जहां गुजारा पूरा जीवन,शहर लगे वो औरों का।पालक पालें लहू पिलाकर,संताने बन जोंक रही।...
3
       उन दिनों मेरे दोनों पुत्र बहुत छोटे थे। तब अक्सर पिकनिक का कार्यक्रम बन जाता था। कभी हम लोग पहाड़ पर श्यामलाताल चले जाते थे, कभी माता पूर्णागिरि देवी के मन्दिर में माथा टेकने चले जाते थे और कभी नेपाल के शहर महेन्द्र...
 पोस्ट लेवल : काठी का दर्द संस्मरण
रवीन्द्र  सिंह  यादव
292
दिल में आजकल एहसासात का  बे-क़ाबू तूफ़ान आ पसरा है, शायद उसे ख़बर है कि आजकल वहाँ आपका बसेरा है।ज़िन्दगी में यदाकदा ऐसे भी मक़ाम आते हैं, कोई अपने ही घर में अंजान  बनकर सितम का नाम पाते हैं।कोई किसी को&nbs...
विजय राजबली माथुर
165
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
कुमार मुकुल
740
अक्‍सर 40 की उम्र के बाद कुछ महिलाएं हाथ दर्द की शिकायत करती हैं। दर्द केहुनी के आसपास होता है जो कोई भारी सामान उठाने से बढ जाता है। महिलाएं अक्‍सर कपड़े आदि साफ करने का कार्य नियमित करती हैं तो उन्‍हें इससे परेशानी होती है। यूं दर्द के अन्‍य कारण भी हो सकते ह...
 पोस्ट लेवल : घूंसेबाजी हाथदर्द
ज्योति  देहलीवाल
24
मैं जैसे ही एक दुकान से शॉपिंग कर बाहर आई तो मेरी नजर सामने ही बन रहे मॉल पर गई। वहां पर 10-15 मज़दूर काम कर रहे थे। उनमें एक औरत पहचानी-पहचानी सी लग रही थी। उसका ध्यान मेरी ओर नहीं था। दिमाग पर जोर डाल ही रही थी कि एकदम से याद आ गया कि अरे, ये तो मेरी बचपन की सबसे...