ब्लॉगसेतु

सुनीता शानू
502
 दिल्ली डायरी में जब प्रगति मैदान शामिल होने जा रहा था, तब अनायास ही डायरी के पन्नों पर लिखने-पढऩे का सबसे बड़ा मेला नजर आने लगा। इस साल के शुरुआती दिनों में यानी 4 से 12 जनवरी के बीच यहां विश्व पुस्तक मेला यानी वल्र्ड बुक फेयर का आयोजन नजर आया।------ सुनीता श...
PRAVEEN GUPTA
95
दिल्ली_की_धरोहर_अग्रवाल_समाजदिल्ली के इतिहास की परतों को पलटेंगे तो उस पर अग्रवाल समाज का गौरवशाली इतिहास सजा नजर आएगा। एक के बाद एक शासक तो दिल्ली की सत्ता हासिल करने की लालसा रही लेकिन अग्रवाल समाज ने दिल्ली को हर तरह समृद्ध, संपन्न व सम्मानित किया। --------...
प्रभाकर आनंद
646
        दो सप्ताह से अधिक हो चुके हैं। सरकार अभी तक जली दिल्ली की राख कुरेद रही है। क्या जला-क्या बचा अभी तक ये भी स्पष्ट नहीं हुआ। मौतों की गिनती तो सरकारें कब ही कर पाती हैं। फिर भी गृह मंत्री अमित शाह ने आज मौतों का कुछ आकड़ा दे दिया। ये...
यूसुफ  किरमानी
192
#दिल्ली_रक्तपात या #दिल्ली_जनसंहार_2020 की दास्तान खत्म होने का नाम नहीं ले रही है...अकबरी दादी (85) के बाद अब सलमा खातून दादी (70) की हत्या ने मेरे जेहन को झकझोर दिया है। मैंने गामड़ी एक्सटेंशन में तीन मंजिला बिल्डिंग में जिंदा जला दी गई 85 साल की अकबरी दादी की कह...
अनीता सैनी
12
कुछ रंग अबीर का प्रीत से,मानव मानव पर मलते  हैं, बेसुध पड़ी धरा पर दिल्ली, मिलकर बंधुत्व  उठाते  हैं।सोनजही की बाड़,बाँधकर, किसलय क़समों-वादों की ।नीर बहा दे नयनों  से कुछ, बिछुड़ी निर्मल यादों की।बहका मन बेटों  के उसका,&nb...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
292
फ़रवरी 2020 अंतिम सप्ताह दिल्ली में दंगा चीख़-पुकार आह ही आह!गिरीं लाशेंलुटे-जले मकान-दुकानपीड़ितों का पलायन लाशों के सौदागरों के बयान एंकर-एंकरनियों की तलवार / म्यान क्षत-विक्षत लाशों के ढेर घायलों की दारुण टेर विधवाओं का विकट विलाप यतीमों का दिल दहलाता आलाप माँओं की...
PRAVEEN GUPTA
95
अजय  कुमार झा
170
मैं शुरू से ही ये मान रहा था और जहां भी मुझे लगा यही कह रहा था की नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों के सामने हर हाल में सिर्फ और सिर्फ वर्दी वाले ही होने चाहिए ,सत्ता और प्रशासन ही रहने चाहिए | चाहे कुछ  भी हो ,इस कानून का और सरकार के इस रुख का सम...
अजय  कुमार झा
275
मुद्दतों बाद ही सही ब्लॉगर किसी न किसी बहाने अब आपस में रूबरू होने का सिलसिला शुरू कर चुके हैं | अभी कुछ दिनों पूर्व ही हिंदी ब्लॉगजगत के सुपर स्टार समीर लाल समीर उर्फ़ उड़नतश्तरी अमेरिका से जब अपनी सर ज़मीन पर आए तो सबसे पहले आदतन ब्लॉगर मित्रों के बीच ही नुमायेदार ह...
kumarendra singh sengar
28
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के भारत आगमन के समय ही दिल्ली में हिंसात्मक गतिविधियों का होना एक तरह का षड्यंत्र समझ आया मगर इसके पीछे खतरनाक कदम, मंसूबे छिपे होंगे ये अंदाज शायद किसी को नहीं रहा होगा. जबरदस्त उत्पात के बाद, खुलेआम कत्लेआम जैसी स्थिति बनाये रखने के बाद ज...