ब्लॉगसेतु

ज्योति  देहलीवाल
0
कई बार मन में सवाल उठता है कि ईश्वर है या नहीं। जब हम देखते है कि सुई से लेकर हवाईजहाज तक हर चीज को बनाने वाला कोई न कोई है, तो हम मानने लगते है कि इस दुनिया को बनाने वाला भी कोई न कोई मतलब ईश्वर होगा! जैसे किसी राज्य को उसका मुख्यमंत्री चलाता है, किसी देश को उसका...
 पोस्ट लेवल : भगवान ईश्वर धार्मिक
ज्योति  देहलीवाल
0
हिंदू धर्म में जब भी किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है, तो उसके शव को स्मशान ले जाते वक्त सभी लोग 'राम नाम सत्य है' ऐसा बोलते है। सवाल ये उठते है कि हिंदुओं के बहुत सारे देवी-देवता होने के बावजुद सिर्फ़ राम का ही नाम क्यों लिया जाता है? यदि राम नाम सत्य है, तो असत्य क्...
Asha News
0
झाबुआ। राजेन्द्र सुरीश्वरजी मसा के पट्टधर वर्तमान आचार्य भगवन ऋषभचन्द्र विजयजी मसा के हाथो से प्रतिष्ठित स्थित महावीर स्मारक मंदिर के शिखर पर लाभार्थी रमेश चंद बांठिया परिवार द्वारा विधिवत मंत्रोच्चार के साथ तिसरी बार ध्वजारोहण किया गया। ध्वजारोहण की विधि तपोनिष्ट...
ज्योति  देहलीवाल
0
फेंगशुई चीनी वास्तुशास्त्र है, जो चीन की धार्मिक किताब ‘टोयो’ पर आधारित ज्ञान है। चीन में फेंग का अर्थ होता है ‘वायु’ और शुई का अर्थ है ‘जल’ अर्थात फेंगशुई का मतलब होता है ‘जलवायु’। दुनिया के अनेक देशों में फेंगशुई का जाल फैला हुआ है। वास्तव में फेंगशुई का वास...
ज्योति  देहलीवाल
0
दोस्तो, सर्वप्रथम आपको ''आपकी सहेली‌‌-ज्योति देहलीवाल'' की ओर से दिपावली की हार्दिक शुभकामनाएं...कहा जाता है कि दिपावली अंधेरे पर उजाले का पर्व है। सवाल ये है कि कौन सा अंधेरा? बाहर का अंधेरा तो हम बहुत सारे दीपक जलाकर मिटा देते है। लेकिन मन के अंधेरे का क्या? हमार...
ज्योति  देहलीवाल
0
क्या करवा चौथ का व्रत करने से पति की उम्र बढ़ती है? दोस्तो, आपको क्या लगता है? क्या सच में पति की उम्र बढ़ती है? यदि हां, तो फिर भारत के पुरुष सबसे ज्यादा उम्र तक क्यों नहीं जीते? और यदि ना, तो फ़िर महिलाएं ये व्रत क्यों करती है? आइए, जानते है क्या है सच्चाई...मतलब पत...
Asha News
0
पंडित रमेश त्रिवेदी ने 50 हजार की प्राप्त धनराशि भगवान को भेंट कीझाबुआ। कोविड 19 के चलते हालाँकि देश भर में धार्मिक स्थानों में धार्मिक गतिविधियां सीमित रही। झाबुआ के हृदय स्थल पर श्री गोवेर्धन नाथ जी की हवेली में पुरुषोत्तम मास में पंडित रमेश त्रिवेदी के मुखारबिंद...
 पोस्ट लेवल : भागवत कथा धार्मिक religious
ज्योति  देहलीवाल
0
आज नारी-पुरुष समानता का जमाना है। जब महिलाएं डॉक्टर, इंजिनियर, वैज्ञानिक, पायलट आदि बन सकती है, तो नारियल क्यों नहीं फोड़ सकती? क्या आपने कभी सोचा है कि नारियल पुरुष ही क्यों फोड़ते है? आखिर महिलाएं नारियल क्यों नहीं फोड़ती? हिंदू धर्म में नारी को साक्षात लक्ष्मी का र...
 पोस्ट लेवल : नारी धार्मिक नारियल
Saransh Sagar
0
एक पंडित जी रामायण कथा सुना रहे थे। लोग आते और आनंद विभोर होकर जाते। पंडित जी का नियम था रोज कथा शुरू करने से पहले "आइए हनुमंत जी बिराजिए" कहकर हनुमान जी का आह्वान करते थे, फिर एक घण्टा प्रवचन करते थे।वकील साहब हर रोज कथा सुनने आते। वकील साहब के भक्तिभाव पर एक दिन...
Asha News
0
झाबुआ। 13 जुलाई को सावन का दूसरा सोमवार शिवभक्तों के द्वारा पूरी श्रद्धा एवं भक्ति भावना के साथ मनाया गया  कोरोना का कहर चलते नगर के सभी शिव मदिरो मे सादगी के साथ ही सोश्यल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए शिवभक्तों ने भगवान भुतभावन की पूजा अर्चना एवं अभिषेक आदि सं...