ब्लॉगसेतु

VMWTeam Bharat
105
आज लगा हवामौसम से रूठ गईकाले घने बादलशहर मे ही रह गईतन तो भीगा ही भीगामन भी बह गईऔर बहकी – बहकी बातेमुह मे ही रह गईइस बरसात के मौसम मेनजारे हरे भरे हैलेकिन ज़िंदगी के इस सफर मेइस किनारे हम खड़े हैआज इस दौर मेहै सब कुछ मेरे पासपर मन मानो कर रहाबस कविताई ही रह गईआज का...
VMWTeam Bharat
105
अभिभावक चाहे महल का हो या स्लम का, हर एक की पहली पसंद इंग्लिश मीडियम स्कूल हो गयी है। परिणाम आज गली-गली में इंग्लिश मीडियम स्कूल खुल रहे है। पर सवाल यह पैदा होता है कि इस इंग्लिश मीडियम शिक्षा व्यवस्था में बच्चे कुछ सीख भी पाते है ? साथियों&nbsp...
VMWTeam Bharat
105
कश्मीर घाटी में अक्सर सुरक्षाबलों पर ताकत के बेतहाशा प्रयोग और मानवाधिकारों के हनन के आरोप लगते हैं। लेकिन हकीकत इससे बिल्कुल उलट है। सुरक्षाकर्मी ही अपने मान-सम्मान, जान को खतरे में डाल संयम बरतते हैं। इस हकीकत का खुलासा सुरक्षाबलों ने नहीं किया, इस कड़वे सच से पर...
VMWTeam Bharat
105
जब हमारे जैसा कोई दूसरा इस दुनिया है ही नहीं। फिर किसी से क्या तुलना। अपना आलस्य अपनी गप्पे अपनी बाते अपनी हार अपनी असफलता सब कुछ अपना है। एक दम यूनिक !! एकदम अलग !! यानि न कोई अपने से आगे और न अपने किसी से पीछे। सब के रास्ते अलग अलग है। सबकी मंजिले अलग अलग...
VMWTeam Bharat
105
कृपया ध्यान दे ...!मधुलेश पाण्डेय “निल्को” की यह एक वयंगात्मक रचना है, इसका उद्देशय किसी तो ठेस पहुचाना बिलकुल नहीं है।ये कविता पढ़ना माना एक जुर्म है, पर इस जुर्म में किसी का मुंह काला नहीं होता | (डोंट वरी)यह एक करारा जवाब है जो कहते है की आलू...
VMWTeam Bharat
105
‘ए दोस्त’ ज़रा मुझ पर रहमत की नज़र रखना मै भी तुंहरा ही हूँ इसकी तो खबर रखना  मुझ जैसे डूबने वालों को अब तेरा सहारा है ‘निल्को’ ने देख लिया सबको अब तुझको पुकारा है  कही डूब न जाऊ मैं मेरा हाथ पकड़ रखना तेरी ज़िंदगी के इतिहास में मेरी भी एक कहानी...
VMWTeam Bharat
105
चेतावनी - दोस्तो आज एक मनगढ़त रचना आप के सामने पेश कर रहा हूँ इसका किसी भी जीवित व्यक्ति से कोई भी सम्बंध नहीं है यदि ऐसा पाया जाता है तो उसे मात्र एक संयोग ही कहा जाएगा । गई थी वो दूसरे शहर बरपा रही थी कही वो कहर जब मुड़ कर देखि वो मुझको तो निल्क...
VMWTeam Bharat
105
किसी भी राष्ट्र का आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक विकास उस देश की शिक्षा पर निर्भर करता है। शिक्षा के अनेक आयाम हैं, जो राष्ट्रीय विकास में शिक्षा के महत्व को रेखांकित करते हैं। वास्तविक रूप में शिक्षा का आशय है ज्ञान, ज्ञान का आकांक्षी है-शिक्षार्थी और इसे उपलब्ध करा...
VMWTeam Bharat
105
तेरी नज़दीक वाली दूरियालगती है जैसे गोलियातेरी हर अदा कुछ ख़ास नहींपर सहती है हर एक बोलियाउसका बनना और सवरनाजैसे हो पानी का ठहरना पर इतराती ऐसे वोजैसे दौड़ में भी टहलनापुकारते है कई नाम से उसे धूप मे भी बारिश हो जैसे पर सुनती नहीं वो एक बार भी चाहे...
VMWTeam Bharat
105
बस यही दौड़ है इस दौर के इन्सानो कीतेरी दीवार से ऊची मेरी दीवार बनेतू रहे पीछे और मैं सदा आगेऐसी कोई बात या करामात बनेनिंदा हो या हो आलोचनाकरता तू है यही आराधनाकी मैं न आगे निकलु तेरे सेइसके लिए ही करुगा साधनागया जमाना मदद , सहयोग कालगता है ये कुछ हठयोग साअगर न माना...