--अपना धर्म निभाओगे कबजग को राह दिखाओगे कब--करना है उपकार वतन परसंयम रखना अपने मन परकभी मैल मत रखना तन परसंकट दूर भगाओगे कबनियमों को अपनाओगे कब--अभिनव कोई गीत बनाओ,सारी दुनिया को समझाओस्नेह-सुधा की धार बहाओवसुधा को सरसाओगे कबजग को राह दिखाओगे कब--सुस्ती-आलस दूर भगा...