ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
18
कोई रिश्ता ना होगा तब — नीलिमा शर्मा की कहानीHindi Storyसुमन ने बहुत कोशिश की परतु उसकी आवाज़ नक्कारखाने में तूती सी रह गयी आखिर टेस्ट कराना ही पढ़ा और डॉक्टर ने “जय माता की” कहकर जैसे वज्रपात कर दिया राजीव और मांजी पर...अब सबके सुर बदल गये। नहीं !!&...
Yashoda Agrawal
3
अब तुम कही भी नही होकही भी नहीना मेरी यादों मेंन मेरी बातों मेंअब मैं मसरूफ रहती हूँदाल के कंकड़ चुन'ने मेंशर्ट के दाग धोने मेंक्यारी में टमाटर बोने मेंएक पल भी मेराकभी खाली नही होताजो तुझे याद करूँया तुझे महसूस करूमैंने छोड़ दिएनावेल पढनेमैंने छोड़ दिए हैकिस्से गढ़नेअ...
रेखा श्रीवास्तव
149
                       जिन्दगी जितने लोगों की  हैं उसके  उतने ही रंग देखने को मिलते हैं  यह बात  नारी में ही देखने को मिलाती है की वह कितने धैर्य से अपने गिरे  संघर्ष के दिनों को ह...
रेखा श्रीवास्तव
459
                           सपने और वह एक लड़की के सपने हाँ ये तो सच है कि  सपने लड़की होने तक ही देखे जाते हैं,  उसके बाद तो वह किसी दूसरे रूप में आते ही अपने सपनों को अपने परिवार और घर स...