ब्लॉगसेतु

MyLetter .In
143
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); प्रिय,हमें प्यार से प्यार करना चाहिए और प्यार से ही उस प्यार को प्राप्त करना चाहिए। यदि हमें पसंद आ गया तो हमें प्यार मिलना ही चाहिए, ऐसी चाहत बेवकूफी नहीं तो और क्या है? अगर हमारे मन को दर्द होता है तो कोई ब...
MyLetter .In
143
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); - राजेश बन्छोरप्रिय पूजा,बहुत कुछ कहना है और कह पाना मुश्किल सा है. शायद यही कारण है कि अभिव्यक्ति के लिए कागज-कलम से बेहतर साधन नहीं खोज पाया. यह मेरा पहला और अंतिम पत्र है. इस पत्र को कागज का मामूली टुकड़ा म...
MyLetter .In
143
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); - राजेश बन्छोरप्रिय राज,मुझे खुद को नहीं मालूम कि मैं कैसी लड़की हूं. मैं आपके दोस्ती के काबिल नहीं, फिर भी आप मुझे अपना दोस्त समझते हैं, यह सोचकर ही मुझे बहुत गर्व महसूस होता है. मुझे मालूम है कि आप कभी...
 पोस्ट लेवल : दिल की बात प्रेम पत्र
MyLetter .In
143
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); -आयशा मुखर्जीडियर राहुल,जब से तुम मेरी ज़िन्दगी में आये हो मेरी life काफी interesting हो गयी है. तुमने अब तक हर बुरी या अच्छी परिस्थितियों में मेरा साथ दिया और सबसे पहले मैं इसके लिए तुम्हारा Thanks करती हूँ....
 पोस्ट लेवल : दिल की बात प्रेम पत्र
MyLetter .In
143
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); - दिलीप तिवारीप्रिये,मैं जब, हमारे मन मिलन के मंदिर में आया तो तुम्हें ना पाकर मेरी आँखें उदासी के समुन्दर में डूब गईं....ना जाने क्यों, हमेशा से, मेरे मन में एक अनजानी आशंका अपना डेरा जमाये रहती थी कि एक दिन...
sanjiv verma salil
6
"आदरणीया मंजूषा मन,आप आचार्य संजीव 'सलिल' से चार वर्ष पूर्व मिलीं और इतना कुछ लिख डाला, हम दादा को विगत २५ वर्षों सेजानते हैं।'लोकतंत्र का मकबरा' काव्य-संग्रह का लोकार्पण उन्होंने कृपाकर हमारे लखनऊ आवास पर आकर श्री गिरीश नारायण पाण्डेय, वरि०साहि० एवं तत्कालीन आयकर...
 पोस्ट लेवल : मंजूषा मन पत्र - शांत
4
--चिट्ठी-पत्री का युग बीता, आया है अब नया जमाना।मुट्ठी में सिमटी है दुनिया,छूट गया पत्रालय जाना।।--रंग-ढंग नवयुग में बदले,चाल-ढाल भी बदल गयी है।मंजिल पहले जैसी ही है,मगर डगर तो बदल गयी है।जिसको देखो वही यहाँ पर,मोबाइल का हुआ दिवाना।मुट्ठी में सिमटी है दुनिया,छ...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
140
बाबा रामदेव जी के नाम खुला पत्रमहोदय,       समाचार माध्यमों से ज्ञात हुआ कि आपने करोना वायरस (Covid-19 ) से फैली महामारी का इलाज खोज लिया है और 'कोरोनिल' नाम की दवा से सात दिन में बीमारी ठीक होने का दावा किया है।भारत में दैवीय चमत्कारों में...
Kajal Kumar
10
 पोस्ट लेवल : पत्रकार Journalism Murder journalist fir
MyLetter .In
143
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); प्रियतम, आप तो मेरे अंतर की एक-एक बात जानते हो, हृदयेश्वर आपसे क्या छिपा है? मेरे हृदय की अंत:स्थल की एक ही वासना है कि मैं सदा सर्वदा आपकी सानिध्य में ही रहूं। सबकुछ छोड़कर नित्य निरंतर आपकी चाकरी म...
 पोस्ट लेवल : दिल की बात प्रेम पत्र