ब्लॉगसेतु

सुशील बाकलीवाल
423
                           एक पण्डितजी एक दिन शास्त्राथ की जिद में  अपने बच्चे से उलझ गये । बच्चे ने भी एक प्रश्न दाग दिया कि अच्छा बताओ- "वो कौन सी वस्तु है, जो कभी अपवित्र नहीं होती......?...
विजय राजबली माथुर
97
https://khabar.ndtv.com/video/show/news/i-am-for-all-people-of-india-made-me-what-i-am-ravish-kumar-in-magsaysay-speech-526333Pawan Karan06-09-2019 नमस्कार, भारत चांद पर पहुंचने वाला है. गौरव के इस क्षण में मेरी नज़र चांद पर भी है और ज़मीन पर भी, जहां चांद से...
ज्योति  देहलीवाल
16
त्रेतायुग में माता सीता की अग्निपरिक्षा ली गई थी। वो गए जमाने की बात हैं। लेकिन इस 21 वी सदी में इंसान जहां मंगल पर बस्ती बसाने की सोच रहा हैं...महिला और पुरुषों को संविधान ने समान अधिकार दिए हैं...आपको यह जान कर आश्चर्य होगा कि लिव इन रिलेशनशिप के इस मॉडर्न जमाने...
Bhavna  Pathak
78
    जब राम लक्षमण विश्वामित्र जी के साथ सीता के स्वयंबर में मिथिला जा रहे थे तब रास्ते में गौतम रिषि का आश्रम पड़ा जो एकदम वीरान पड़ा था। यहां पर किसी तरह की गतिविधि या जीवन के कोई लक्षण न देखकर कुमारों को बड़ा विस्मय हुआ। आश्रमों में तो हमेशा चहल पहल रहत...
मधुलिका पटेल
547
इस वर्ष श्राद्ध मेंमैंने तुम्हारी यादों का तर्पण कर दिया जो वर्ष पहलेधीरे धीरे मर रही थी |तुम्हारी याददाश्त में भी मैं ज़िंदा कहाँ थी ?उन बेजान यादों को दिल की ज़मीं से खाली करनामेरा मन बार बारन चाह कर भी उस ज़मीन को टटोलता रहता की&n...
ज्योति  देहलीवाल
16
                                हाल ही में महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर के मंदिर में एक महिला के शनि देव को तेल चढ़ाने से विवाद शुरु हो गया है। खबरों के मुताबिक, 400 वर्षों से इस मंदिर क...
ज्योति  देहलीवाल
16
                                हाल ही में महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर के मंदिर में एक महिला के शनि देव को तेल चढ़ाने से विवाद शुरु हो गया है। खबरों के मुताबिक, 400 वर्षों से इस मंदिर क...
मुकेश कुमार
207
एक सोता-ऊंघता शहर, जिसका शहरी नाम है देवघर !!बम-बम बम-बम, बोलो बम, जय महादेव, देवाधिदेवजैसे करतल ध्वनि के साथ, गुंजायमान है शहर !बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक,बाबा बैद्यनाथ के इर्द-गिर्द बसा ये शहर !बस, नहीं है इसको कोई फिकरसैकड़ों गलियों और तालाबों के किनारे बसाधार...
डा.राजेंद्र तेला निरंतर
8
ये मेरी हवस नहीं दिल की सदा है मेरे ज़ज्बात हैं मेरा मन है जो तुम को बुलाता है मोहब्बत के खातिर नहीं तुम्हारी पाकीजगी की  वज़ह से तुम्हारी नजदीकियां चाहता हूँ  बहुत खुद गर्ज़ हूँ तुम्हारे जैसे ही पाक बनना चाहता हूँ © डा.राजेंद्र तेला,निरंतर522-13-13--10-2014...
रणधीर सुमन
14
जाने माने विधिवेत्ता फाली एस नरीमन ने हाल में एक बहुत महत्वपूर्ण बात कही। वर्तमान राजनैतिक स्थिति के संदर्भ में उन्होंने कहा कि 'हिंदू धर्म, पारंपरिक रूप से, अन्य सभी भारतीय धर्मों से तुलनात्मक रूप में सबसे अधिक सहिष्णु रहा है' परंतु हाल में कट्टरवादियों द्वारा फै...