ब्लॉगसेतु

ज्योति  देहलीवाल
47
सोशल मीडिया पर, अखबारों में, टेलीविजन पर, जहां देखो वहां महिलाओं ने क्या पहनना चाहिए और क्या नहीं पहनना चाहिए इस पर ढेरों बयानबाजी हो रहीं है। जैसे, “विदेशी महिला सैलानी भारत में स्कर्ट पहनकर न घुमें” “पी वी सिंधु भी न...देखो मंदिर जाने के लिए साड़ी पहन ली”“लड़के न ब...
केवल राम
320
गतांक से आगे  आत्मानुशासन जीवन की अनिवार्यता है. जो व्यक्ति इसे अपना लेता है वह अपने लिए और दूसरों के लिए प्रेरणा और ख़ुशी का कारण बनता है. जीवन का यह अनुभूत सत्य है जब हम आत्मानुशासन को साथ लेकर चलते हैं तो बहुत सी बुराइयों से बचे रह सकते हैं और अपने परिवार और...