ब्लॉगसेतु

mahendra verma
279
ज्योति कलश छलके,हुए गुलाबी लाल सुनहरेरंग दल बादल के.....यह एक पुरानी फ़िल्म का गीत है । यह गीत आपको आज भी अच्छा लगता होगा। इस गीत की कई ख़ूबियों में से एक यह है कि इस गीत की धुन केवल पांच सुरों के मेल से बनी है । इस गीत के कर्णप्रिय होने का एक कारण यही पांच सुर ह...
मुकेश कुमार
422
बात 2008 की थी, उन दिनों ऑरकुट का जमाना था, तभी एक नई बात पता चली थी कि "ब्लोगस्पॉट" गूगल द्वारा बनाया गया एक अलग इजाद है, जिसके माध्यम से आप अपनी बात रख सकते हैं और वो आपका अपना डिजिटल डायरी होगा | जैसे आज भी कोई नया एप देखते ही डाउनलोड कर लेता हूँ, तो कुछ वैसा ही...
sanjiv verma salil
6
एक रचना: पाँच पर्व :*पाँच तत्व की देह है,ज्ञाननेद्रिय हैं पाँच।कर्मेन्द्रिय भी पाँच हैं,पाँच पर्व हैं साँच।।*माटी की यह देह है,माटी का संसार।माटी बनती दीप चुप,देती जग उजियार।।कच्ची माटी को पकापक्का करती आँच।अगन-लगन का मेल हीपाँच मार्ग का साँच।।*हाथ न सूझे हाथ...
 पोस्ट लेवल : panch parva पांच पर्व
prabhat ranjan
30
 देवदत्त पट्टनायक की पुस्तक सीता के पांच निर्णय का एक अंश. किताब राजपाल एंड सन्ज प्रकाशन से आई है. अंग्रेजी से इसका अनुवाद मैंने किया है- प्रभात रंजन ===================================समुद्र के ऊपर बहुत लम्बी यात्रा के बाद सीता ने खुद को लंका द्वीप में...
अनंत विजय
56
तमाम अटकलों को विराम लगाते हुए चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का ऐलान कर दिया है । जिन पांच राज्यों में चुनाव का एलान किया गया है उनमें सबसे अहम है उत्तर प्रदेश जहां चार सौ तीन विधानसभा सीटों के लिए चुनाव ले जाने हैं । इसके अलावा जो राज्य हैं वो हैं...
मुकेश कुमार
170
सुनोपिछले बार, याद है नकैफे कॉफी डे के काउंटर परमैंने निकला था 500 का कड़क नोटलेना था केपेचिनों का दो लार्ज कपवो बात थी दीगरकि, पे किया था तुमनेजिससेथोड़ी असमंजस व संकोच की स्थिति के साथफिर से डाल लिया था, पर्स के कोने मेंअकेला नोट पांच सौ का !उस...
मुकेश कुमार
422
सुनो पिछले बार, याद है न कैफे कॉफी डे के काउंटर पर मैंने निकला था 500 का कड़क नोटलेना था केपेचिनों का दो लार्ज कप वो बात थी दीगर कि, पे किया था तुमने जिससे थोड़ी असमंजस व संकोच की स्थिति के साथ फिर से डाल लिया था, पर्स के कोने में अकेला नोट पांच सौ का !उस पल लगा था अ...
अनंत विजय
56
मंगलवार को जब खबर आई कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश को संबोधित करनेवाले हैं तो तमाम मीडिया कंपनियों के न्यूजरूम में इस बात के कयास लगाए जाने लगे कि प्रधानमंत्री पाकिस्तान को लेकर किसी बड़े कदम का एलान कर सकते हैं लेकिन प्रधानमंत्री ने तो कुछ और ही तय कर रखा था ।...
prabhat ranjan
30
हुमैरा राहत के शेर पढता रहता था. अभी हाल में ही उनकी गजलों और नज्मों का संकलन हाथ में आया- पांचवीं हिजरत. किताब राजपाल एंड संज प्रकाशन से आई है. उसी से कुछ ग़ज़लें- मॉडरेटर ===============================================================1.बिछुड़ते वक्त भी रोया नही...
अनंत विजय
56
साहित्य अकादमी पुरस्कारों को लेकर साहित्यजगत में कई तरह की किवदंतियां और मिथक मौजूद हैं । कब किसको मिला और कब किसको नहीं मिला इसको लेकर भी कई तरह की बातें और प्रसंग साहित्य जगत में गूंजते रहते हैं, बहुधा साहित्यक बैठकियों में तो कई बार पुस्तकों में आए प्रसंगों के उ...