ब्लॉगसेतु

Pratibha Kushwaha
489
कोई भी वाहन चलाना वैसे ही महिलाओं के लिए जोखिम वाला काम माना जाता है, ऐसे में हवा में कुलांचे भरने को क्या कहा जाए। इसे आश्चर्य ही कहा जाएगा कि देश में महिला पायलटों की संख्या विश्व में सबसे अधिक हो गई है। इस पर हमें गर्व होना चाहिए कि यह संख्या महिला पायलटों...
Ravindra Pandey
480
जो भी हो जाए कम है,क्यों तेरी आँखें नम हैं?देते हैं  ज़ख्म  अपनें,मिले गैरां से मरहम है।तू अपनी राह चला चल,पीकर अपमान हलाहल।या मोड़ दिशा हवाओं के,गर तुझमें भी कुछ दम है।न्याय सिसक कर रोए,अन्याय की करनी धोए.यहाँ झूठ, फ़रेब के क़िस्से,नित लहराते परचम हैं।नैतिकत...
Madabhushi Rangraj  Iyengar
232
साजन के गाँव में. आज मत रोको मुझे, साजन के गाँव में, सुनो मेरी छम छम, बिन पायल के पाँव में. आलता मँगाऊँगी मैं, मेंहदी  रचाऊँगी मैं, सासु, ननदों को भी, मेंहदी लगाऊँगी मैं. झूला झूलेंगे  मिलकर सावन में नाचत हमें मोर मिलें कितने कानन में...
Bhavna  Pathak
77
वाह रे पुरुष वर्चस्व की जहरीली मानसिकता, तूने इंसान तो इंसान पक्षी तक को अपनी गिरफ्त में ले लिया, तभी तो पिंजरे में कैद यह तोता भी नायिका की एक एक गतिविधि पर पैनी नजर रखता है और ताने देता है जिसे इस गीत में बड़ी खूबसूरती से पेश किया गया है -उठाय पिंजरा दरवज्जे पे र...
मुकेश कुमार
172
ड्रोनकाश होता मेरे पास भी "ड्रोन"या ड्रोन जैसा ही कुछ या बना पाता उसके तकनीक पर ऐसा ही कुछकोई यन्त्र या तंत्र !!बस एक बदलाव होता जरुरी, मेरा ड्रोन रहता अदृश्य !!मिस्टर इंडिया सा लाल या नील प्रकाश के अलावा न दिखने वाला !!जो भी होते अपने या होते बेगानेबिना किसी पायलट...
सरिता  भाटिया
161
रोया मंगलसूत्र है,रोया है सिन्दूर।कंगन पायल पूछते,चले गए क्यों दूर।।चले गए क्यों दूर,मेंहदी आज पुकारेविरला वो जाँबाज , देश पे जाँ जो वारेरोते हैं माँ, बाप ,बहन ने भाई खोया सरिता खोकर वीर, देश है सारा रोया ।।*******
ऋता शेखर 'मधु'
294
डॉ शौर्य मलिक जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगासारे चित्र गूगल से साभार
ललित शर्मा
61
..............................