ब्लॉगसेतु

Kajal Kumar
18
Kajal Kumar
18
Kajal Kumar
18
Kajal Kumar
18
Kajal Kumar
18
Kajal Kumar
18
anup sethi
280
रमाकांत पुरस्‍कार से सम्‍मानित कहानी मेमना और उस के निर्णायक का वक्‍तव्‍य आप पढ़ चुके. अब पढ़िए कहानीकार ओमा शर्मा का वक्‍तव्‍य मैं रमाकांत स्मृति पुरस्कार की संयोजन समिति और इस वर्ष के निर्णायक श्री दिनेश खन्ना का अभारी हूं जिन्होंने इस वर्ष के इस कहानी पुरस्का...
anup sethi
280
रमाकांत कहानी पुरस्‍कार से सम्‍मानित कहानी दुश्‍मन मेमना और पुरस्‍कार के बारे में जानकारी के बाद अब पढ़िए इस कहानी के निर्णायक दिनेश खन्‍ना का वक्‍तव्‍य ओमा शर्मा की कहानी 'दुश्‍मन मेमना' मुझे एकदम आज की कहानी लगी. आज से मेरा मतलब है हमारे आज के शहर, महानगर मे...
anup sethi
280
रमाकांत छठे दशक के महत्वपूर्ण कथाकारों में से एक हैं. दो दिसम्बर १९३१ को जन्मे इस कथाकार के चर्चित कहानी संग्रह हैं- कार्लो हब्शी का संदूक, जिन्दगी भर का झूठ, उसकी लड़ाई, एक विपरीत कथा और कोई और बात. रमाकांत के महत्वपूर्ण उपन्यास हैं जुलूस वाला आदमी, छोटे छोटे...
anup sethi
280
  रमाकांत स्‍मृति पुरस्‍कार शायद एकमात्र पुरस्‍कार है जो साल भर के दौरान छपी सिर्फ किसी एक कहानी पर दिया जाता है. पिछले साल का पुरस्‍कार ओमा शर्मा को दुश्‍मन मेमना कहानी पर मिला है. बदलते हुए समाज के रग-रेशे को खोलती यह कहानी आप यहां पढ़िए     ...