ब्लॉगसेतु

विजय राजबली माथुर
96
मनीषा पांडेयऔर भी स्याह हुआ मर्दवाद का चेहरादिल्ली के गार्गी कॉलेज में छेड़खानी की घटना के विरोध में छात्राओं का प्रदर्शनसजा औरत के साथ हुए अन्याय से नहीं, मर्द की औकात से तय हो रही है। गरीब मजदूर हुआ तो उसे फांसी और ताकतवर बाबा हुआ तो उसे माला पहनाई जाएगीसत्ता और...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
301
जामिया मिलिया इस्लामियाविश्वविद्यालय दिल्ली कीलायब्रेरी में दिल्ली पुलिस नेअपने बर्बर दुस्साहस के साथअध्ययनरत शिक्षार्थियों परक्रूरतम लाठीचार्ज कियाएक ओर जब दर्द से कराह रहे हैं युवातब समाज का एक तबकाअपनी अपार ख़ुशी ज़ाहिर कर रहा हैक्योंकि धर्म विशेष के लोगों कोपूर्व...
Pratibha Kushwaha
480
इंडियन जुडिशल रिपोर्ट-2019 इस माह आई है। यूं तो यह नागरिकों और उनके न्यायक्षेत्र से संबंधित है, पर इसका एक आवश्यक भाग पुलिस भी है। जिस पर नागरिकों की सुरक्षा भार और उत्तरदायित्व होता है। एक अच्छी पुलिस आम नागरिकों को न केवल सुरक्षा उपलब्ध कराती है, बल्कि उसके साथ ह...
kumarendra singh sengar
28
आज के दौर में जबकि एक तरफ संवैधानिक रूप से चलने की बात की जाती है उस समय में संवैधानिक क्या है, इसे लेकर भी संशय बना हुआ है. हैदराबाद की जघन्य घटना के बाद आम जनमानस में आक्रोश बना हुआ था और आरोपियों को जनता के हवाले करके, जनता के द्वारा हिसाब बराबर किये जाने की आवा...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
301
अरे! सुनो विद्यार्थियो! क्यों सड़कों परअपना ख़ून बहा रहे हो अपनी हड्डियाँ तुड़वा रहे होअपनी खाल छिलवा रहे हो पुलिस की लाठियाँ खा रहे हो पुलिस की लातें खा रहे हो क्यों सामान के बोरे-सा ढोये जा रहे हो चार-छह बेरहम पुलिसकर्मियों के हाथोंक्यो...
Kajal Kumar
18
 पोस्ट लेवल : Police पुलिस jnu
ANITA LAGURI (ANU)
153
झमेले ज़िन्दगी के तमाम बढ़ गये           मार खा...
अनीता सैनी
7
जनाब कह रहे हैं  ख़ाकी और काला-कोट पगला गये हैं  और तो और सड़क पर आ गये हैं   धाक जमा रहे थे हम इन पर सफ़ेद पोशाक  पहन पितृ देव का रुतबा दिखा भविष्यवाणी कर रहे थे शब्दों का प्रभाव क्या होता है ख़ाकी और का...
Kajal Kumar
18
 पोस्ट लेवल : Police वकील advocate पुलिस
Kajal Kumar
18
 पोस्ट लेवल : Police वकील advocate पुलिस