ब्लॉगसेतु

हर्षवर्धन त्रिपाठी
89
नसीब बदनसीब की बड़ी चर्चा हुई दिल्ली विधानसभा के चुनाव में। वैसे तो ‘नसीबवाला’ कौन कितना है, ये समझना बड़ा मुश्किल है। लेकिन, कम से कम आज केंद्रीय सरकार के बजट के बाद मध्यम वर्ग तो खुद को बदनसीब ही महसूस कर रहा होगा। बदनसीबी इस बात की कि बजट महीने के अंत में क्यों...
हर्षवर्धन त्रिपाठी
89
पेट्रोलियम मंत्रालय से जरूरी कागज, जानकारी लीक करने वाले पकड़े गए हैं। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान @dpradhanbjp कह रहे हैं पहले की सरकार में ये सब खुलेआम होता था। हमने इंतजाम करके पकड़ा है। सलाह है कि संभलकर करें इस पेट्रोलियम मंत्रालय में दलालों का इतना जबर...
Kajal Kumar
18
दिनेशराय द्विवेदी
57
भारत की जनता को जब जब भी चुनाव से निजात मिलती है, वह अपनी हालत के बारे में सोचने लगती है। जब जनता सोचने लगे तो सरकार के दफ्तर में खतरे का अलार्म बजने लगता है। तभी जरूरी हो जाता है कि उसे फिर से औंधे मुहँ पटका जाए। इस के लिए कुछ अध...
शिवम् मिश्रा
35
वैसे मैं अपने पोस्टो में अपने बारे में बहुत कम ही कुछ लिखता हूँ ... पर कल से इतना पेट्रोल ... पेट्रोल सुन रहा हूँ कि एक काफी पुरानी हरकत याद आ गय...
 पोस्ट लेवल : सरकार पेट्रोल कुत्ता
शिवम् मिश्रा
445
कार्टून साभार श्री सुधीर तैलंग संप्रग-2 की तीसरी सालगिरह मनाने और कड़े फैसले लेने का ऐलान करने के अगले ही दिन केंद्र सरकार ने आम जनता को अभूतपूर्व पेट्रोल मूल्य वृद्धि का अनचाहा तोहफा दे डाला। तेल कंपनियों ने बुधवार आधी रात से पेट्रोल की...