ब्लॉगसेतु

रवीन्द्र  सिंह  यादव
0
पसीने से लथपथ बूढ़ा लकड़हारा पेड़ काट रहा है शजर की शाख़ पर तार-तार होता अपना नशेमन अपलक छलछलाई आँखों से निहार रही हैएक गौरैया अंतिम तिनका छिन्न-भिन्न होकर गिरने तक किसी चमत्कार की प्रतीक्षा में विकट चहचहाती रही न संगी...
ज्योति  देहलीवाल
0
दोस्तो, मथुरा के पेड़े (Mathura ke pede) बहुत प्रसिद्ध है। जन्माष्टमी के अवसर पर यदि घर में ही बने हुए मथुरा के पेड़े मिल जाएं तो इससे अच्छी क्या बात हो सकती है? पारंपारिक तरीके से दूध से पेड़े बनाने में बहुत वक्त लगता है और आजकल बाजार में ज्यादातर बार मिलावट वाला खोआ...
sanjiv verma salil
0
द्विपदियाँ :पौधा पेड़ बनाओ*काटे वृक्ष, पहाडी खोदी, खो दी है हरियाली.बदरी चली गयी बिन बरसे, जैसे गगरी खाली.*खा ली किसने रेत नदी की, लूटे नेह किनारे?पूछ रही मन-शांति, रहूँ मैं किसके कहो सहारे?*किसने कितना दर्द सहा रे!, कौन बताए पीड़ा?नेता के महलों में करता है, विकास क्...
 पोस्ट लेवल : पेड़ पौधा द्विपदियाँ
ANITA LAGURI (ANU)
0
रात्रि का दूसरा पहरकुछ पेड़ ऊँघ रहे थेकुछ मेरी तरह शहर का शोर सुन रहे थेकि पदचापों की आती लय ताल नेकानों में मेरेपंछियों का क्रंदन उड़ेल दियातभी देखा अँधेरों मेंचमकते दाँतों के बीचराक्षसी हँसी से लबरेज़ दानवों कोजो कर रहे थे प्रहार हम परकाट रहे थे हमारे हाथों कोप...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
0
दिनकर की धूप पाकर भोजन बनाता है पेड़ दिनभर ज़हरीली हवा निगलता है पेड़ दिनभर मुफ़्त प्राणवायु उगलता है पेड़ दिनभर बादलों को दिनभर रिझाता है पेड़ दिनभर थके-हारे परिंदों को बुलाता है पेड़ दिनभर कलरव की प्यारी सरगम सुनता...
Kavita Rawat
0
..............................
sanjiv verma salil
0
एक रचना:पौधा रोपो पेड़ बनाओ*काटे वृक्ष, पहाडी खोदी, खो दी है हरियाली.बदरी चली गयी बिन बरसे, जैसे गगरी खाली.*खा ली किसने रेत नदी की, लूटे नेह किनारे?पूछ रही मन-शांति, रहूँ मैं किसके कहो सहारे?*किसने कितना दर्द सहा रे!, कौन बताए पीड़ा?नेता के महलों में करता है, विकास क...
 पोस्ट लेवल : पौधा रोपो पेड़ बनाओ
मुकेश कुमार
0
बोनसाई पेड़ों जैसीहोती है जिंदगी, मेट्रो सिटी में रहने वालों कीमिलता है सब कुछलेकिन मिलेगा राशनिंग मेंपानीबिजलीवायुघर की दीवारेंपार्किंगयहाँ तक की धूप भीसिर्फ एक कोना छिटकता हुआहै न सचख़ास सीमा तक कर सकते हैं खर्चपानी या बिजलीअगर पाना हैसब्सिडाइज्ड कीमतवर्नाभुगतो बजट...
Kavita Rawat
0
..............................
girish billore
0
..............................
 पोस्ट लेवल : राखी पेड़ पौधों