ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
6
एक गीत -एक पैरोडी*ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा ३१कहा दो दिलों ने, कि मिलकर कभी हम ना होंगे जुदा ३०*ये क्या बात है, आज की चाँदनी में २१कि हम खो गये, प्यार की रागनी में २१ये बाँहों में बाँहें, ये बहकी निगाहें २३लो आने लगा जिंदगी का मज़ा १९*सितारों की...
 पोस्ट लेवल : पैरोडी कश्मीर
sanjiv verma salil
6
एक गीत -एक पैरोडी*ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा ३१कहा दो दिलों ने, कि मिलकर कभी हम ना होंगे जुदा ३०*ये क्या बात है, आज की चाँदनी में २१कि हम खो गये, प्यार की रागनी में २१ये बाँहों में बाँहें, ये बहकी निगाहें २३लो आने लगा जिंदगी का मज़ा १९*सितारों की...
 पोस्ट लेवल : एक गीत -एक पैरोडी
sanjiv verma salil
6
हास्य रचना ई मित्रता पर पैरोडी: संजीव 'सलिल'* (बतर्ज़: अजीब दास्तां है ये,कहाँ शुरू कहाँ ख़तम...)*हवाई दोस्ती है ये,निभाई जाए किस तरह?मिलें तो किस तरह मिलें-मिली नहीं हो जब वज़ह?हवाई दोस्ती है ये...*सवाल इससे कीजिए?जवाब उससे लीजिए.नहीं है जिनसे वास्ता-उ...
 पोस्ट लेवल : पैरोडी हास्य HASYA parody
sanjiv verma salil
6
ई मित्रता पर पैरोडी:संजीव 'सलिल'*(बतर्ज़: अजीब दास्तां है ये,कहाँ शुरू कहाँ ख़तम...)*हवाई दोस्ती है ये,निभाई जाए किस तरह?मिलें तो किस तरह मिलें-मिली नहीं हो जब वज़ह?हवाई दोस्ती है ये...*सवाल इससे कीजिए?जवाब उससे लीजिए.नहीं है जिनसे वास्ता-उन्हीं पे आप रीझिए.हवाई दोस्त...
 पोस्ट लेवल : पैरोडी pairody
sanjiv verma salil
6
ई मित्रता पर पैरोडी:संजीव 'सलिल'*(बतर्ज़: अजीब दास्तां है ये,कहाँ शुरू कहाँ ख़तम...)*हवाई दोस्ती है ये,निभाई जाए किस तरह?मिलें तो किस तरह मिलें-मिली नहीं हो जब वज़ह?हवाई दोस्ती है ये...*सवाल इससे कीजिए?जवाब उससे लीजिए.नहीं है जिनसे वास्ता-उन्हीं पे आप रीझिए.हवाई दोस्त...
sanjiv verma salil
6
एक गीत -एक पैरोडी*ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा ३१कहा दो दिलों ने, कि मिलकर कभी हम ना होंगे जुदा ३०*ये क्या बात है, आज की चाँदनी में २१कि हम खो गये, प्यार की रागनी में २१ये बाँहों में बाँहें, ये बहकी निगाहें २३लो आने लगा जिंदगी का मज़ा १९*सितारों की...
 पोस्ट लेवल : गीत पैरोडी geet pairody
sanjiv verma salil
6
एक गीत -एक पैरोडी*ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा ३१कहा दो दिलों ने, कि मिलकर कभी हम ना होंगे जुदा ३०*ये क्या बात है, आज की चाँदनी में २१कि हम खो गये, प्यार की रागनी में २१ये बाँहों में बाँहें, ये बहकी निगाहें २३लो आने लगा जिंदगी का मज़ा १९*सितारों की...
Sanjay  Grover
415
पैरोडीअफ़वाह की डगर पे चमचों चलो उछलकेइंजन कोई भी आए, डब्बे तुम्ही हो कल केअपने हों या पराए, किसको नज़र है आएये ज़िंदगी है अभिनय, करना भी क्या है न्यायरस्ते लगेंगे भारी, तुम हो ही इतने हलकेअफ़वाह की डगर पे.....सबसे पटाके रक्खो, हर इक मिठाई चक्खोकट्टर ख़्याल हों भी तो से...
sanjiv verma salil
6
कार्यशाला १० पैरोडीनीचे एक चित्रपटीय गीत है। इसका आनंद लें। चाहें तो इसकी पैरोडी बनाइये। १. हर मात्रा गिनिये, तुक मिलान पर ध्यान दें। मात्राओं में लघु-गुरु का क्रम देखें। २. शब्दों को आगे-पीछे करिये, इससे लघु-गुरु का क्रम बदलेगा। ३. ध्यान से देखें- क...
sanjiv verma salil
6
एक गीत -एक पैरोडी *ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा           ३१कहा दो दिलों ने, कि मिलकर कभी हम ना होंगे जुदा       ३० *ये क्या बात है, आज की चाँदनी में             &...