ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
18
‘आइटी सेल’ मानसिकता का विषाणु उदारवाद, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय की पक्षधरता का दावा करनेवाले के मस्तिष्क को भी संक्रमित कर रहा है — प्रकाश के रेसम्पादकीयरवीश कुमार के सम्मान से चिढ़ क्यों!— प्रकाश के रेपिछले महीने जब रवीश कुमार को पत्रकारिता के क्षेत्र में उत...
Bharat Tiwari
18
गो टू हेल का मतलब क्या होता है हिंदी में और  चर्चित मीडियाकर्मी कलाप्रेमी प्रकाश के रे का बाल की खाल उधाड़ना...दुनियाभर की धार्मिक व्यवस्थाओं और पौराणिक संस्कृति में अलग-अलग तरह के नरक का वर्णन है. हिंदू धर्म में भी है, पर उसके बारे में कुछ भी कहना आजकल ख़तरनाक...
Bharat Tiwari
18
एक-से-बढ़कर-एक: बेहतरीन अनुदित कवितायेँ— प्रकाश के रेtable td{ vertical-align: top; padding: 5px; border: .3px solid gray; text-align: left;} Poem of Bertolt Brecht in Hindi, translation: Prakash K Ray1बर्तोल्त ब्रेष्ट:जैसे कोई ज़रूरी ख़त लेकर आता है डाकख़ाने देर...
Bharat Tiwari
18
कोई फिल्म या कहानी एक रचनात्मक प्रक्रिया से गढ़ी जाती है, पर उसका एक संदर्भ-बिंदु जरूर होता है. इसी में अनेक तत्वों को मिलाकर कथानक बनता है. तो, सवाल उठना स्वाभाविक है कि आखिर यह करिश्माई 'काला' है कौन...काला की राजनीति— प्रकाश के रे प्रकाश के रेरजनीकांत जैसे...
Bharat Tiwari
18
ऐसे समय में जहां धर्म, धार्मिकता और धार्मिक चेतना का इस्तेमाल हिंसा, घृणा और भेदभाव के लिए किया जा रहा हो तथा ऐसा कर राजनीति की जमीन सींची जा रही हो, धर्म को उसके लोकप्रिय स्वरूप में ज्ञान और संवेदना के साथ प्रस्तुत करना बहुत अहम कार्य है, जिसे पटनायक बखूबी करते आ...
Bharat Tiwari
18
Hindi Poems- Prakash K Rayएक:आँखों से बही थी कविता सर्वप्रथम क़स्बे के अख़बार के आख़िरी अंक में बतौर संपादकीय छपी थी  अंतिम कविताशास्त्रों ने उस दिन से सतयुग का आरंभ माना है दो:गर्म होती धरा और परिवर्तित होते जलवायु के इस घोर कल...
Bharat Tiwari
18
कविता का विश्व — प्रकाश के रेविश्व कविता दिवस के अवसर पर प्रस्तुत हैं विभिन्न भाषाओं के महान कवियों की कुछ रचनाओं के अनुवाद. ये अनुवाद प्रकाश के रे ने इन कविताओं के अंग्रेज़ी अनुवाद से हिंदी में किया हैं.1. बर्तोल्त ब्रेष्ट, जर्मन कविजैसे कोई ज़रूरी ख़त लेकर आ...
Bharat Tiwari
18
तेरह बरस की लड़की | हकलाहटके सच्चिदानंदन की दो कवितायेँप्रकाश के रेमलयालम साहित्य में मॉडर्निज़्म के सशक्त हस्ताक्षर किय्यमपरम्बत सच्चिदानंदन (K. Satchidanandan) को केरल साहित्य अकादमी (केरल सरकार के अधीन त्रिशूर में स्थित स्वायत्त संस्थान) के शीर्ष साहित्यिक...
prabhat ranjan
34
प्रकाश के. रे का एक रूप यह भी है. पत्रकारिता, फिल्मपर लेखन के अलावा वे समय मिलने पर कविताओं के अनुवाद भी करते हैं. कुछ चुनिन्दा कविताएँ उनके अनुवाद में- मॉडरेटर ===========================================================1जैसे कोई ज़रूरी ख़त लेकर आता है डाकख़ा...