ब्लॉगसेतु

kumarendra singh sengar
24
अनलॉक के दौरान बाजार में भीड़ अब अपने पुराने रूप में आती दिख रही है. उरई में शाम पाँच बजे तक बाजार खोलने की अनुमति है. जैसा कि ऊपर से आदेश हैं, उसके अनुसार रात नौ बजे तक नागरिकों के आवागमन पर प्रतिबन्ध नहीं है. एक आवश्यक काम से शाम को सात बजे के बाद निकलना हुआ. उस स...
Pawan Kumar Sharma
133
पवन कुमार, नई दिल्ली Feedjit Live Blog Stats
Kajal Kumar
18
 पोस्ट लेवल : प्रदूषण pollution
अनीता सैनी
56
जिंदगियाँ निगल रहा प्रदूषण  क्यों पवन पर प्रतंच्या चढ़ाया है कभी अंजान था मानव इस अंजाम से आज वक़्त ने फ़रमान सुनाया है चिंगारी सोला बन धधक रही मानव !किन ख्यालों में खोया हैवाराणसी सिसक-सिसक तड़पती रही आज...
अनीता सैनी
56
हम समझते हैं उन नियमों को, जिन्हें भारत सरकार ने जनहित में जारी किया, न ही हम किसी पार्टी विशेष को सपोर्ट  कर रहे,   न ही  बग़ावत कर रहे  उन लोगों से जो,  इस एक्ट का विरोध कर  रहे हैं,   नये मोटर व्हीक...
kumarendra singh sengar
24
वर्तमान दौर में पर्यावरण असंतुलन की सबसे बड़ी समस्या ग्लोबल वॉर्मिंग है. इस कारण से पृथ्वी का तापमान बढ़ रहा है, जिससे मानव जीवन के कदम विनाश की ओर बढ़ रहे हैं. ऐसे में अगर हमने पर्यावरण को बचाने के लिए कोई बड़ा कदम नहीं उठाया तो वह दिन दूर नहीं, जब हमारा अस्तित्व ही...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
241
 प्रकृति की, स्तब्धकारी ख़ामोशी की, गहन व्याख्या करते-करते, पुरखा-पुरखिन भी निढाल हो गये, सागर,नदियाँ,झरने,पर्वत-पहाड़, पोखर-ताल,जीवधारी,हरियाली,झाड़-झँखाड़,क्या मानव के मातहत निहाल हो गये?नहीं !...... कदापि नहीं !औद्योगिक क्राँति,पूँजी का...
विजय राजबली माथुर
99
Ram Harsh Patel9 mins ·12-04-2019 *मोदी का पूरा रिपोर्ट कार्ड *  :आप यह देखकर चौंक जाएंगे कि पिछले 5 वर्षों में भारत कैसे बदल गया है, इसमे अगर कुछ भी गलत लगे तो बताएं...अन्यथा इस सच को स्वीकार करें..*1* भारत अब उच्चतम बेरोजगारी दर से पीड़ित है *(NSSO...
Bharat Tiwari
19
प्रदूषण की समस्या और समाधानदिल्ली, जानलेवा प्रदूषण | अंजान भविष्य के लिए वर्तमान बड़ी भारी कीमत चुका रहा हैभीड़ आबादी कम किए बगैर नहीं बचेगी दिल्ली— पंकज चतुर्वेदीवायु प्रदूषण करीब 25 फीसदी फेंफड़े के कैंसर की वजह है। इस खतरे पर काबू पा लेने से हर साल करीब 10 लाख लोगो...
विजय राजबली माथुर
74
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं ) संकलन-विजय माथुर, फौर्मैटिंग-यशवन्त यश