ब्लॉगसेतु

Saransh Sagar
229
आज के समय में वंश बढ़ाने , समाज में अपने परिवार के अंश को जिम्मेदारी देने व् कई उद्देश्यों के साथ विवाह की महत्वता ऋषि मुनियों ने बतलाई है और हमारे पूर्वजो ने भी इसके कई फायदे बतलाये है ! कई तपस्वी का मानना है कि गृहस्थ आश्रम से बढ़कर कोई तप भी नही !! इसीलिए समाज में...
Bhavna  Pathak
78
                 आज जब रिचा दिल्ली से चंडीगढ़ वापस लौट रही थी तो मन बहुत हल्का था। तमाम संदेहों दुश्चिंताओं की बदली छंट चुकी थी। उसे अपने पर हंसी आ रही थी। वह अब तक एक रस्सी को सांप मान कर डर में जी रही थी। उसने तय किया...