ब्लॉगसेतु

वंदना अवस्थी दुबे
368
इन दिनों अखबारों की मुख्य खबरें  कोई भी बता सकता है.... कोई मुझसे पूछता है कि क्या है आज खास खबर? तो मैं आंख मूंद के बोल देती हूं- "मोदी केआरोप, राहुल गांधी के प्रत्यारोप, और कुछ बलात्कार... बस्स.बहुत दिन हुए, इन खबरों के अलावा कुछ और रहता ही नहीं. मोदी और...
kumarendra singh sengar
28
कई बार मीडिया की ‘सबसे पहले हम’ की अनावश्यक दौड़ और सोशल मीडिया की अतिशय जागरूकता से विषय की संवेदनशीलता दम तोड़ती दिखाई देने लगती है. किसी विषय की गंभीरता और उसका वास्तविक सन्देश अधिकतर बेवजह की बहसों में गुम हो जाता है. खुद को बुद्धिजीवी और जागरूक दिखाने के चक्कर...
Sandhya Sharma
229
ख़बरों का अम्बार ख़बरों भरा अखबारकहीं नरसंहारकहीं बलात्कार पुलिस का अत्याचार अधिकारियों का भ्रष्टाचार नेताओं के हथकंडेसुरक्षा बलों के डंडे संवाददाताओं के पुलिंदेरतजगे उनींदे रेल बस की लेटलतीफी मध्यम वर्ग की मज़बूरी पक्ष की घोषणाएं विपक्ष की आलोचनाएँ मंत्रियों के दौरे...
महेन्द्र श्रीवास्तव
267
पहले सोच रहा था कि पांच राज्यों मं चुनाव घोषित हो गए हैं, उसकी बात करूं, 2014 यानि आम चुनाव में भले ही अभी देरी हो पर सियासी पारा बिल्कुल चढ़ा हुआ है। लेकिन इन सब पर भारी पड़ रहा है आसाराम और उसका परिवार। सूरत की दो बहनें जिस तरह सामने आई हैं और उनकी आप बीती सुनने...
संजय भास्कर
110
  ( चित्र - गूगल से साभार ) उस चौराहे पर पड़ी वह स्त्री रो रही है बुरी तरह से उसका बलात्कार हुआ है कुछ देर पहले वह सह रही है असहनीय पीड़ा कुछ दरिंदो की दरिंदगी का भीड़ में खड़े है लाखो लोग पर मदद का हाथ कोई नहीं बढाता इंसानियत...
kumarendra singh sengar
28
बलात्कार जैसे कुकृत्य के एक आरोपी को अभी पकड़ा ही नहीं जा पाता है कि कहीं दे दूसरी वारदात की खबर सामने आ जाती है. यौन-कुंठित व्यक्ति लगातार, हर पल मासूम बच्चियों को, महिलाओं को, वृद्ध महिलाओं को अपना शिकार बना रहे हैं. विद्रूपता तो ये है कि समाज की तरफ से ऐसे कुकृत...
अजय  कुमार झा
466
दिल्ली बलात्कार कांड के फ़ैसले के आने से पहले यदि किसी से भी पूछा जा रहा था कि वो इस अपराध के आरोपियों को क्या सज़ा पाते हुए देखना चाहते हैं तो दस में आठ व्यक्तियों का कहना था कि , उन्हें मौत की सज़ा मिलनी चाहिए । खुद गृह मंत्री तक भावावेश में एक विवादास्पद बयान दे गए...
अजय  कुमार झा
466
दिल्ली बलात्कार कांड की अंतिम परिणति या कहा जाए कि भारतीय न्याय व्यवस्था जो कम से कम त्रिस्तरीय तो है ही , उसके पहले चरण का अंतिम फ़ैसला अब आने को है । इस वक्त देश और पूरे समाज की निगाहें इस फ़ैसले की ओर लगी हुई हैं । आरोपियों को सभी धाराओं में दोषी ठहराए जाने के...
महेन्द्र श्रीवास्तव
267
मुझे नहीं पता ये कौन है, आप पहचानिए !आसाराम के बारे मे आगे बात करने से पहले आप इस तस्वीर को देख लीजिए। आमतौर पर ऐसी तस्वीर सामने आने के बाद पहले तो लोग तस्वीर को ही खारिज कर देते हैं, कहते हैं कि इस तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की गई है। लेकिन सोशल नेटवर्क साइट पर ये तस्...
अजय  कुमार झा
97
आज देश की सर्वोच्च विधायी संस्था , संसद में ,मांग उठाई गई कि देश के एक स्वनाम धन्य संत आसाराम बापू पर लगे बलात्कार जैसे संगीन अपराध वो भी उनकी ही एक नाबालिग अनुयायी के साथ , के मामले पर सरकार सिर्फ़ इस वजह से गंभीर नहीं है क्योंकि उनके साथ " धर्म " और उनके अंधानुयाय...