ब्लॉगसेतु

विजय राजबली माथुर
73
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )  संकलन-विजय माथुर, फौर्मैटिंग-यशवन्त यश
Bhavna  Pathak
77
मेरी पहली मुलाकात जुझारी भाई से बिलकुल बालीवुड स्टाइल में बड़े ही अजीबोगरीब हालात में हुई जिसे ताउम्र कभी भुलाया नहीं जा सकता। घटना सन् 1985 के आसपास की होगी। सिंगरौली क्षेत्र में कोयला खदानों, बिजलीघरों आदि के चलते बड़े पैमाने पर विस्थापन जोरों पर था। परियोजना अधि...
अविनाश वाचस्पति
13
सिनेमा में यह मामला सदा सुर्खियों में गरमागर्म रहता है। पर यह अपने शीतल रूप में समाज में सदा से कायम है। लिव इन रिलेशनशिप के मायने संबंधों के उन दायरों में रहना जहां पर सब लागू हो परंतु फिर भी बेकाबू हो। ऐसा दौर जोखिमभरा है या इसमें सिर्फ हरा-हरा है। सबके मन में इस...