ब्लॉगसेतु

विजय राजबली माथुर
75
Hemant Kumar Jha 07-08-2019 इस देश के 18 से 35 वर्ष के युवाओं के सामने सबसे बड़ी समस्या क्या है? क्या कश्मीर? या राम मंदिर? या पाकिस्तान...?या...उच्च शिक्षा में वंचित समुदाय के युवाओं के लिये घटते अवसर? रोजगार के घटते अवसर? अंध निजीकरण? श्रमिक अधिकारों पर...
देवेन्द्र पाण्डेय
113
वह अस्तबल नहीं, देश का जाना माना, एक प्राइवेट प्रशिक्षण संस्थान था जहाँ देश भर से घोड़े उच्च शिक्षा के लिए आते। संस्थान में कई घोड़े थे। मालिक चाहता कि सभी घोड़े और तेज दौड़ें. और तेज..और तेज। इस 'और' की हवस को पाने के लिए वह अनजाने में ही घोड़ों के प्रति क्रूर होता चला...
 पोस्ट लेवल : बेरोजगारी व्यंग्य
विजय राजबली माथुर
127
अनिल सिन्हालखनऊ का लोहिया पार्क : मूर्तियों और प्रतीकों तक सिमट गई है विचारधारादेश के अधिकतर राजनीतिक दलों ने अपने आदर्श छोड़कर पूंजीवाद के आगे घुटने टेक दिए हैंविचारधाराओं की वापसी से ही बचेगा लोकतंत्र : जातियों के कई राजनीतिक समूह अब बड़ी संख्या में उस बीजेपी...
विजय राजबली माथुर
127
*लखनऊ की सड़कों पर पेंशन के लिये लड़ते सरकारी कर्मचारियों का समूह हो या पटना की सड़कों पर अपने हक और सम्मान के लिये लड़ते नियोजित शिक्षकों की जमात हो, आउटसोर्सिंग के अमानुषिक शोषण का शिकार होते कर्मी हों या कर्ज से दबे किसान हों, सरकारी वैकेंसी के इंतजार में उम्र गंवात...
विजय राजबली माथुर
98
Ram Harsh Patel9 mins ·12-04-2019 *मोदी का पूरा रिपोर्ट कार्ड *  :आप यह देखकर चौंक जाएंगे कि पिछले 5 वर्षों में भारत कैसे बदल गया है, इसमे अगर कुछ भी गलत लगे तो बताएं...अन्यथा इस सच को स्वीकार करें..*1* भारत अब उच्चतम बेरोजगारी दर से पीड़ित है *(NSSO...
विजय राजबली माथुर
75
* निर्णायक पदों पर दंभी, मूढ़, कट्टर, पूर्वाग्रही बैठ गये हैं और अपने निर्णयों से पूरे देश को दुख दे रहे हैं, जीवन दुभर कर रहे हैं।** यह देश बहुत बड़ी तबाही की तरफ जा रहा है...आने वाले दिन बहुत बुरे होने वाले हैं..*** इस देश का बुद्धिजीवी, सृजनशील, कला...
दिनेशराय द्विवेदी
57
अम्बेडकर जी के बारे में मैं ने बहुत कम पढ़ा है, एक स्कूली विद्यार्थी के बराबर। पर इतना जानता हूँ कि वे अत्यन्त प्रतिभाशाली थे। उन्होंने भारतीय संविधान की रचना की और उसे संविधान सभा से पारित कराया। वे दलित थे और दलितों की दमन से मुक्ति चाहते थे। उन्हों ने बौद्ध...
विजय राजबली माथुर
75
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं ) Girish Malviya05-01-2017कैशलेस हो जाने के खतरे............... इस लेख का तात्पर्य आपको डराना नहीं है लेकिन पैसो के मामले में कैशलेस हो जाने से जो स...
विजय राजबली माथुर
127
Arvind Raj Swarup Cpi> जन समस्याओं को लेकर वामदलों की संयुक्त रैली 9नवम्बर को लखनऊ में> उ0प्र0 विधानसभा चुनाव में संयुक्त रूप से उतरेंगेवामदल>> लखनऊ 30 अगस्त। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी,भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी),भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माल...
kumarendra singh sengar
29
जब किसी प्रदेश में चपरासी पद के लिए आवेदन करने वालों में इंजीनियर, पी-एच० डी०, परास्नातक, स्नातक आदि शामिल हों तो उस प्रदेश में रोजगार की स्थिति को समझा जा सकता है. चपरासी के के 368 पदों के लिए तेईस लाख से अधिक लोगों का आवेदन करना प्रदेश में बेरोजगारों की भारी-भरक...