ब्लॉगसेतु

अविनाश वाचस्पति
16
‘मैं क्या करूं राम मुझे बुड्ढा मिल गया’। फिल्म में कलाकार का किरदार एक बुड्ढे का भी और कॉमेडियन का भी। कहां बुढ़ापे के बोर नीरस जीवन के साथ कॉमेडी का भरपूर जलवा। यह फिल्मों  में ही संभव है। फिल्म  में वह सब संभव है जो साहित्य में असंभव है। साहित्य  त...
अविनाश वाचस्पति
16
फिल्म के परदे पर डर देखकर डर गए तो जीत गया निर्माता, जीत गया निर्देशक, चमकने लगे सितारे। सब दर्शक को डराना चाहते हैं। कोई कब्रिस्तान दिखाता है, कोई श्मशान में टहलाता है, नरमुंड की माला पहनाता है, कंकाल चमकाता है, कोई रात में सड़क पर घुमाता है, दर्शक भी डरना चाहता ह...
अविनाश वाचस्पति
16
अविनाश वाचस्पति
16
अविनाश वाचस्पति
16
अविनाश वाचस्पति
16
इमेज पर क्लिक कीजिए और पढ़ लीजिए
अविनाश वाचस्पति
16
शिवम् मिश्रा
36
 " कोई इश्क़ का नाम ले ... और अनारकली का जिक्र न हो ... यह मुमकिन नहीं " और आज वैसे भी इश्क़ का दिन है ...१४ फरवरी मधुबाला जी की जंयती   मधुबाला (जन्म: 14 फरवरी, 1933, दिल्ली - निधन: 23 फरवरी, 1969, बंबई) भारतीय हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री थी।...
Lokendra Singh
99
 कौ न बनेगा करोड़पति का छठवां सीजन शुरू हो गया है। तीसरे ही एपिसोड में जम्मू कश्मीर के मनोज कुमार करोड़पति भी बन गए हैं। अमिताभ बच्चन ने केबीसी को और केबीसी ने अमिताभ बच्चन को, दोनों ने एक-दूसरे को नई ऊंचाई पर लाकर खड़ा कर दिया है। इस बार केबीसी की टैग लाइन लो...
राजीव तनेजा
189
***राजीव तनेजा*** ठक...ठक... ठक्क...ठक्क “लगता है स्साला!...ऐसे नहीं खोलेगा....तोड़ दो दरवाज़ा”… "जी!…जनाब"... थाड़......थाड़...धमाक...धमाक(ज़ोर से दरवाज़ा पीटे जाने की आवाज़) "रुकिए …रुकिए …क्कौन है?".. "पुलिस...दरवाज़ा खोलो".... &...