ब्लॉगसेतु

Manisha Sharma
0
एक सफल श्रेष्ठ लेखक कैसे बने?लेखक किसी भी समाज का वह प्रतिभाशाली व्यक्ति होता है। जो अपनी लेखनी के माध्यम से अपने भावों भावनाओं को सबके सामने प्रस्तुत करता है। दूसरे शब्दों में, जिस प्रकार से कोई कलाकार मंच पर अपने पात्र को बखूबी निभाता है, ठीक उसी प्रकार से, एक ले...
 पोस्ट लेवल : भाषा लेखक
sahitya shilpi
0
..............................
 पोस्ट लेवल : भाषा सेतु बुल्ले शाह
आचार्य  प्रताप
0
शब्दों का आधार ध्वनि है, तब ध्वनि थी तो स्वाभाविक है शब्द भी थे। किन्तु व्यक्त नहीं हुये थे, अर्थात उनका ज्ञान नहीं था । उदाहरणार्थ कुछ लोग कहते है कि अग्नि का आविष्कार फलाने समय में हुआ। तो क्या उससे पहले अग्नि न थी महानुभावों? अग्नि तो धरती के जन्म से ही है किन्त...
 पोस्ट लेवल : शब्द हिंदी भाषा
अनंत विजय
0
पिछले महीने की सत्ताइस तारीख को शिक्षा मंत्रालय ने पूर्व आईएएस अधिकारी और राष्ट्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलाधिपति एन गोपालस्वामी की अध्यक्षता में ग्यारह सदस्यों की एक समिति का गठन किया। इस समिति का गठन मैसूर में भारतीय भाषा विश्वविद्यालय और इडियन इंस्टीट्यूट ऑ...
sanjiv verma salil
0
 ब्रजभाषा : एक परिचय ब्रजभाषा एक धार्मिक भाषा है, जो पश्चिमी उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड में बोली जाती है। इसके अलावा यह भाषा हरियाणा, राजस्थान और मध्यप्रदेश के कुछ जनपदों में भी बोली जाती है। अन्य भारतीय भाषाओं की तरह ये भी संस्कृत से जन्मी है। इस भाषा मे...
 पोस्ट लेवल : बृज भाषा
sanjiv verma salil
0
भाषा गीत  हिन्द और हिंदी की जय-जयकार करें हम भारत की माटी, हिंदी से प्यार करें हम *भाषा सहोदरी होती है हर प्राणी की अक्षर-शब्द बसी छवि शारद कल्याणी की नाद-ताल, रस-छंद, व्याकरण शुद्ध सरलतम जो बोले वह लिखें-पढ़ें विधि जगवाणी की संस्कृत-पुत्री को अपना गलहार क...
 पोस्ट लेवल : भाषा गीत
sanjiv verma salil
0
भारत की भाषाएँ*आधिकारिक भाषाएँ संघ-स्तर पर हिन्दी, अंग्रेज़ी भारत का संविधान आठवीं अनुसूची असमिया, बंगाली, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, सिंधी, संथाली,तमिल, तेलु...
 पोस्ट लेवल : भारत भाषाएँ
अपर्णा त्रिपाठी
0
 बॉलीवुड और हिंदी एक दूसरे के पर्याय है जब बॉलीवुड की बात होती है तो हमारे मन में एक ऐसी तस्वीर उभरती है जिसने सभी भाषा के क्षेत्रों व सीमाओं को तोड़ते हुए हिंदी को जन सुलभ और लोकप्रिय भाषा के पद पर आरूढ़ करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई । भारतीय सिनेमा जगत को प...
sanjiv verma salil
0
हिंदी भाषा और बोलियाँ पटल पर बुंदेली, बघेली, पचेली, निमाड़ी, मालवी तथा छत्तीसगढ़ी पर्वों के पश्चात पाँच अक्तूबर से दो सप्ताह राजस्थानी पर्व होगा। राजस्थानी क्षेत्र का इतिहास, संस्कृति (लोकगीत, लोककथाएँ, लोकगीत, लोक कला, लोकपर्व, लोक नाट्य), साहित्य (गद्य, पद्य, समी...
sanjiv verma salil
0
भाषा विविध: दोहा संस्कृत दोहा: शास्त्री नित्य गोपाल कटारेवृक्ष-कर्तनं करिष्यति, भूत्वांधस्तु भवान्। / पदे स्वकीये कुठारं, रक्षकस्तु भगवान्।। मैथली दोहा: ब्रम्हदेव शास्त्रीकी हो रहल समाज में?, की करैत समुदाय? / किछु न करैत समाज अछि, अपनहिं सैं भरिपाय।।अवधी दोहा: डॉ....
 पोस्ट लेवल : भाषा विविधा दोहा