ब्लॉगसेतु

3
संस्मरण(भूख) लगभग 45 साल पुरानी घटना है। उन दिनों नेपाल में मेरा हम-वतन प्रीतम लाल पहाड़ में खच्चर लादने का काम करता था। इनका परिवार भी इनके साथ ही पहाड़ में किराये के झाले (लकड़ी के तख्तों से बना घर) में रहता था।     कुछ दिनों के बाद इनका अपने घर...
 पोस्ट लेवल : संस्मरण ‘भूख
3
संस्मरण(भूख) लगभग 45 साल पुरानी घटना है। उन दिनों नेपाल में मेरा हम-वतन प्रीतम लाल पहाड़ में खच्चर लादने का काम करता था। इनका परिवार भी इनके साथ ही पहाड़ में किराये के झाले (लकड़ी के तख्तों से बना घर) में रहता था।     कुछ दिनों के बाद इनका अपने घर...
 पोस्ट लेवल : संस्मरण ‘भूख
अनीता सैनी
12
जिस शाम छूटी थीं तुम्हारी अँगुलियाँ मेरे हाथ से, समय-प्रवाह में तलाश रही थी मैं हाथ तुम्हारा, रोयी थी पूनम की चाँदनी तब चाँद गवाह बना था,   बदली थी  सूरज ने अपनी जगह तुम देख रहे थे, वह पश्चिम में दिखा था। भूख का चल रहा वह भीष...
विजय राजबली माथुर
73
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )  संकलन-विजय माथुर, फौर्मैटिंग-यशवन्त यश
विजय राजबली माथुर
165
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
 पोस्ट लेवल : सहजन सीढ़ी भूख थायरायड
Satyan Srivastava
47
Gas-Indigestion-Anorexia-Lack of Appetiteआजकल अयोग्य भोजन पद्धति के चलते हर किसी को आफरा, बदहज़मी, गैस, पेट दर्द की शिकायत रहती है खाए हुए अन्न का ठीक से पाचन ना होने की वजह से पेट मे गैस बनना, पेट फूलना, पेट दर्द जैसी समस्याए तथा कब्ज की समस्याए होने लगती है व लंबे...
kumarendra singh sengar
28
उत्तर प्रदेश का बुन्देलखण्ड क्षेत्र अनेकानेक प्राकृतिक संपदाओं से संपन्न होने के बाद भी भोजन, पानी की समस्या से परेशान बना रहता है. हालत इस तरह की हो चुकी है कि ग्रामीण अंचलों के बहुतायत गाँवों से युवाओं को पलायन करके शहरी क्षेत्रों की तरफ जाना पड़ रहा है. बारिश की...
Kajal Kumar
7
विजय राजबली माथुर
165
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं
169
विश्व कविता दिवस परप्रस्तुत है आज एक बाल कवितासड़क  किनारे जो भी पाया,पेट उसी से यह भरती है।मोहनभोग समझकर,भूखी गइया कचरा चरती है।।  कैसे खाऊँ मैं कचरे को,बछड़ा मइया से कहता है।दूध सभी दुह लेता मालिक,उदर मेरा भूखा रहता है।। भोजन की आशा में ब...