ब्लॉगसेतु

Lokendra Singh
101
क्रांतिवीर सावरकर के योगदान पर यह वीडियो ब्लॉग भी देखें“सावरकर बंधुओं की प्रतिभा का उपयोग जन-कल्याण के लिए होना चाहिए। अगर भारत इसी तरह सोया पड़ा रहा तो मुझे डर है कि उसके ये दो निष्ठावान पुत्र सदा के लिए हाथ से चले जाएंगे। एक सावरकर भाई को मैं बहुत अच्छी तरह जानता...
Lokendra Singh
101
'अपना वीडियो पार्क' पर इस विषय पर वीडियो ब्लॉग देखें मुझे आज तक एक बात समझ नहीं आई कि कुछ लोगों को स्वदेशी जैसे अनुकरणीय, उदात्त और वृहद विचार का विरोध क्यों करते हैं? स्वदेशी से उन्हें क्या दिक्कत है? आपको यह समझ आये कि ये लोग स्वदेशी का विरोध क्यों करते हैं...
यूसुफ  किरमानी
181
 आरएसएस का गांधी प्रेम बढ़ता ही जा रहा है। आरएसएस के मौजूदा प्रमुख या सरसंघचालक मोहन भागवत 17 फ़रवरी को दिल्ली में गांधी स्मृति में जा पहुंचे। संघ के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब कोई सरसंघचालक गांधी स्मृति में पहुंचा है। गांधी स्मृति वह जगह है जहां 30 जनव...
Asha News
83
महात्मा गांधी एक मोमबत्ती की तरह थे, जिन्होंने पूरे संसार को किया रोशन - डाॅ. एससी जैनझाबुआ। शासकीय महाविद्यालय झाबुआ में देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का 150वीं जयंती वर्ष मनाया गया। जिसमें ’सत्य के प्रयोग’, गांधीजी की आत्मकथा के गद्यांध निर्बल के बलराम, धर्म क...
Asha News
83
गांधी प्रतिमा पर सूत की माला से सांसद ने किया बापू को नमनझाबुआ। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 जन्म जयंती के अवसर पर सांसद गुमानसिंह डामोर द्वारा बस स्टेंड स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर सूत की माला अर्पित करके उन्हे श्रद्धासुमन अर्पित किये गये । प्रधानमंत्री...
 पोस्ट लेवल : भाजपा महात्मा गांधी
विजय राजबली माथुर
99
वसुंधरा फाउंडेशन के तत्वाधान में गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर दिनांक 01 अक्तूबर 2019 की साँय राष्ट्रीय पुस्तक मेला सभागार, मोतीमहल, लखनऊ   में   एक विचार गोष्ठी "सुराज,स्वदेशी और महात्मा गांधी'' विषय पर राम किशोर जी की अध्यक्षता में सम्पन्न हु...
Lokendra Singh
101
बैतूल में आरएसएस के समविचार संगठन 'विद्या भारती' द्वारा संचालित हॉस्पिटलप्रधानमंत्रीनरेन्द्र मोदी ने अपने लोकप्रिय रेडियो संवाद ‘मन की बात’ में भगवान श्रीकृष्ण और महात्मा गांधी के जीवन का उल्लेख करते हुए सेवा को अपने जीवन में उतारने का आह्वान किया। भारतीय परंपरा-सं...
ज्योति  देहलीवाल
59
गांधी जी को ना सिर्फ भारत बल्कि दुनिया में भी विशेष ख्याति प्राप्त है। इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि दुनिया के महान वैज्ञानिकों में शुमार आइंस्टीन ने कहा था कि कुछ सालों बाद लोग इस बात पर यकीन नहीं करेंगे कि महात्मा गांधी जैसा इंसान कभी भी इस धरती...
शिवम् मिश्रा
35
दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद की घृणित प्रथा के खात्मे के लिए चले निर्णायक आंदोलन के अगुवा नेल्सन मंडेला के जीवन में महात्मा गांधी और नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के रूप में भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़े अलग-अलग विचारधाराओं वाले दो पुरोधाओं की सोच का अनोखा संगम देखा...
यूसुफ  किरमानी
181
पिछले पाँच साल में महात्मा गांधी को गाली देने का चलन आम हो गया है। आरएसएस और उसकी राजनीतिक शाखा भाजपा ने इसे एक मिशन की तरह आगे बढ़ाया है। अपने छुटभैये नेताओं से गाली दिलवाते हैं। फिर उस गाली को उसका निजी विचार बता दिया जाता है। बहुत दबाव महसूस हुआ तो उसको पार्टी स...