ब्लॉगसेतु

HARSHVARDHAN SRIVASTAV
209
..............................
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
209
..............................
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
209
..............................
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
209
..............................
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
209
'मेरे वतन में हिन्दू-मुस्लिम और सिख-ईसाई अलग-अलग कितने हैं यह तो मैं नहीं जानता पर मैं यह जरूर जानता हूँ कि मेरे देश में अस्सी करोड़ हिन्दुस्तानी बसते हैं, आज मैं उन्हीं हिन्दुस्तानियों में से एक की कहानी सुनाना चाहता हूँ। उसका नाम अब्दुल हमीद था। न वह कोई हीरो था औ...
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
209
श्रीकृष्ण आज से लगभग पाँच हजार वर्ष पूर्व भारत की समृद्ध और सम्पन्न प्रजा जरासंध, कंस और शिशुपाल जैसे शासकों के दमन चक्र का शिकार बन गयी। अत्याचार और राजनीतिक कुचक्र के इस वातावरण में कंस की बहन देवकी अपने पति वासुदेव के साथ कंस के कारागार में बन्दी थी। वहाँ द...
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
209
जे. आर. डी. टाटा महान उद्योगपति श्री जे. आर. डी. टाटा जी का पूरा नाम जहाँगीर  रतन जी दादाभाई टाटा है। उनका जन्म 29 जुलाई, 1904 ई. को पेरिस में हुआ था। इनके पिता रतन जी दादाभाई टाटा पेरिस में निर्यात का कारोबार करते थे। इनकी माँ सुजैन फ्रांसीसी थ...