ब्लॉगसेतु

Sanjay  Grover
303
ग़ज़ल                                                                           &n...
Sanjay Chourasia
178
जोश और आवेश में अंतर तो बहुत नहीं हैं किन्तु इनके अर्थ अलग हो सकते हैं ! एक जोशीला युवक अपने समाज और देश की स्थिति में बदलाव ला सकता है ! किन्तु एक आवेशित युवक अपना और अपने समाज का सिर्फ अहित कर सकता है ! आवेश का एक रूप गुस्सा भी होता है ! जोश हमें हमेशा आगे बढ़ने...
 पोस्ट लेवल : ख़ुशी जोश आवेश मातम