ब्लॉगसेतु

kumarendra singh sengar
30
ओसामा की हत्या के बाद से लगातार चारों ओर से उसके खात्मे के लिए बनाये गये अमेरिकी ऑपरेशन के बारे में ही चर्चा हो रही है। मीडिया में, आम आदमी की बातों-बहस में बस इसी बात के चर्चे हैं कि अमेरिका ने किस तरह से बहुत ही कम समय में अन्तर्राष्ट्रीय आतंकवादी को घर में घुस...
kumarendra singh sengar
30
कल राजधानी के दो कोच में आग लगी. आंकड़ों पर एक निगाह--दो कोच में आग- ट्रेन चल रही थी- रात के दो बजे- सभी यात्री सोये हुए- कोई बचाने वाला नहीं- एक भी यात्री घायल नहीं।----------------------------------------------------------------------------------------------------...
kumarendra singh sengar
30
दीपक मशाल की पोस्ट को पढ़ा, विचारणीय और बहुत ही गम्भीर विषय परलिख गया है। अभी तक जिन्होंने दीपक को कविताओं, गजलों और कुछ लघुकथाओं पर कलम चलाते देखा है उन्हें आश्चर्य हो रहा होगा पर हमें तो आश्चर्य यह हो रहा था कि दीपक जैसा गम्भीर चिन्तक अभी तक इस तरह कि विषयों प...
kumarendra singh sengar
30
सम्भवतः यह ऐसा विषय नहीं है जिस पर किसी तरह से लिखने की हिम्मत इस समय हो पा रही है। जापान में आई प्रलयकारी स्थितियां किसी भी व्यक्ति को व्यथित कर सकती हैं। पहले भूकम्प की मार उसके तुरन्त बाद ही सुनामी का कहर और अभी एक ही दिन बीता था कि ज्वालामुखी के फटने की खबर...
kumarendra singh sengar
30
बिग बॉस को प्राइम टाइम में दिखाये जाने पर मंत्रालय ने पाबंदी लगाई तो अदालत ने इस आदेश पर रोक लगाकर उसे प्राइम टाइम में ही जारी रहने का निर्देश दे दिया। अब पता नहीं कि यह किसकी जीत और किसकी हार है किन्तु यह तो तय हो गया कि टी0वी0 पर दिखाया जा रहा भौंड़ापन प्राइम टाइम...
kumarendra singh sengar
30
हे राम, ये वे दो शब्द हैं जिनका उच्चारण महात्मा गाँधी ने अपने प्राण त्यागते समय किया था। हालांकि कुछ उपद्रवी तत्वों ने बाद में अपना शोध एवं खोज ज्ञान दिखाते हुए बताया कि महात्मा गाँधी ने हे राम नहीं कहा था बल्कि कुछ और ही कहा था। यह तो एक विवाद का विषय है कि महात्म...
kumarendra singh sengar
30
आज कई दिनों बाद ब्लॉग संसार में या कहें कि इंटरनेट पर लौटना हुआ। कुछ बिजली के कारण और कुछ अन्य दूसरी व्यस्तताएँ।इधर कई दिनों से समाचार-पत्रों में, इलैक्ट्रॉनिक चैनलों के द्वारा कॉमनवेल्थ गेम्स की तैयारियों की छीछालेदर की जा रही है। (एकबारगी हमें लगा कि कहीं मीडिया...
kumarendra singh sengar
30
वर्तमान में देश में उभरते कुछ बिन्दु जिन पर विचार करना आवश्यक है, इस नाते नहीं कि पृष्ठभूमि में हिन्दू या मुस्लिम हैं, इस कारण कि इनका सम्बन्ध देश से है।(चित्र साभार गूगल छवियों से)गोधरा कांड ज्यादा वीभत्स कहा जाये कि इसकी परिणति से उपजा गुजरात दंगा? यहाँ इस बात...