ब्लॉगसेतु

Lokendra Singh
60
कोविड-19 वायरस के कारण दुनियाभर में फैली महामारी को रोकने और उससे बचने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रारंभ से ही अपने देश की जनता के साथ संवाद कर रहे हैं। अब जबकि कोरोना का पीक भारत में देखा जा रहा है और संक्रमण के मामलों में कमी आने लगी है, तब एक बार फिर प्र...
4
 --गाँधी और पटेल ने, जहाँ लिया अवतार।मोदी का गुजरात ने, दिया हमें उपहार।।--देवताओं से कम नहीं, होता है देवेन्द्र।सौ सालों के बाद में, पैदा हुआ नरेन्द्र।।--साधारण परिवार का, किया चमन गुलजार।मोह छोड़ संसार का, त्याग दिया घर-बार।।--युगों-युगों के बाद में, लेते जन...
Kajal Kumar
8
 पोस्ट लेवल : मोदी मोर peacock modi
अनंत विजय
58
अयोध्या में राम जन्मभूमि पर बननेवाले भव्य मंदिर के भूमिपूजन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाषण के निहितार्थों पर पर्याप्त चर्चा होनी चाहिए। अगर गंभीरता से विचार किया जाए तो पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिर्फ मंदिर के विधिवत निर्माण की शुरु...
Lokendra Singh
60
श्रीराम जन्मभूमि, अयोध्या मंदिर में विराजे रामलला के दर्शनमर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जीवन भारतीय विचार की अभिव्यक्ति है। श्रीराम ने अपने जीवन से सामाजिक समरसता, एकात्म एवं बंधुत्व का संदेश दिया है। आज से हजारों वर्षों पूर्व त्रेतायुग में उन्होंने भारत को ए...
kumarendra singh sengar
21
इस पोस्ट से अपने आपको वे संदर्भित करें जो किसी न किसी तरह से खुद को राजनीति में या राजनैतिक विचारों से जुड़ा मानते हैं. ये चित्र कल, शिला पूजन के बाद से लगातार चर्चा में है. रामभक्तों को इस चित्र से कोई समस्या नहीं. समस्या उन्हें है जिनके आराध्य राम नहीं बल्कि 'रासो...
kumarendra singh sengar
21
आज, 05 अगस्त 2020, एक ऐतिहासिक तिथि. एक ऐसी तिथि जिस दिन वर्षों पुराना सपना सच हुआ. यह सपना एक हमारी आँखों ने नहीं बल्कि करोड़ों-करोड़ों आँखों ने देखा था. अनेक जाने-अनजाने लोगों ने अपनी ज़िन्दगी खपा दी, अपने प्राण गँवा दिए. जी हाँ, श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण ऐसा...
PRAVEEN GUPTA
87
SOURAV MODI - सौरव मोदी 8000 रुपये की मामूली रकम, पर आइडिया दमदार था आज है करोड़ों का टर्नओवरबहुत कम लोग ही हैं जो अपनी अच्छी-खासी कॉर्पोरेट नौकरी को छोड़कर एक उद्यमी बनने का ख्वाब देखते हैं, लेकिन बेंगलुरु के 23 साल के सौरव मोदी ने बिलकुल कुछ ऐसा ही कर दिखाया...
 पोस्ट लेवल : SOURAV MODI - सौरव मोदी
अनंत विजय
58
हरिशंकर परसाईं का एक बेहद मशहूर व्यंग्य है, राजनीतिक पुंगी। उसमें वो लिखते हैं, ‘आदमी और पुंगी में क्या फर्क है? आदमी खुद बोलता है और पुंगी बजायी जाती है। पुंगी में सिर्फ खाली पोल होती है, उसमें स्वर नहीं होता। पुंगी का स्वर उसी आदमी का स्वर होता है, जिसके हाथ में...
अनंत विजय
58
चीन से जारी तनातनी के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लेह की यात्रा की और वहां सेना के जवानों को संबोधित करते हुए दिनकर की कविता की पंक्तियों को भी उद्धृत किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राजनीति में अपने गैरपारंपरिक तौर तरीकों से चौंकाते रहे हैं। अब कूटनीति के ए...